कमीशन ना देने पर नाराज दरोगा ने की गाली गलौज,पीड़ित की दी फर्जी जेल भेजने की धमकी

पीडित ने पुलिस अधीक्षक सहित गृह सचिव से लिखित शिकायत करके न्याय की लगाई गुहार

अपराध संवाददाता

रामसनेहीघाट बाराबंकी। जहां एक ओर योगी सरकार फरियादियों से अच्छा व्यवहार करने के निर्देश देकर पालन करने का ढिढोरा पीट रही है वही कोतवाली रामसनेहीघाट मे पीडित को उधार पैसे की शिकायत करना महंगा पड गया। पीडित का आरोप है कि कमीशन न देने पर दरोगा ने गाली गलौज करते हुए फर्जी एनडीपीएस लगाकर जेल भेजने की धमकी दे डाली। 

आपको बताते चलें कि मामला कोतवाली रामसनेहीघाट क्षेत्र के पुरे गोसाईं मजरे सुखीपुर का है। जहां के निवासी जुग्गी लाल पुत्र मोहनलाल ने पुलिस अधीक्षक एवं गृह सचिव शासन से लिखित शिकायत करके दरोगा के ऊपर कार्यवाही की गुहार लगाई है। पीडित ने बताया कि सुमेरगंज के मो सुऐब ने पीडित से एक लाख रुपये उधार लिया था  जिसे वापस नही कर रहा था पीडित ने इसकी शिकायत स्थानीय कोतवाली मे की पुलिस ने पीडित व दोनों का 151 मे चालान कर दिया और सुऐब से पैसे वापस करने के लिए कहा। सीओ साहब के यहां पर सुऐब पैसे देने के लिए राजी हो गया जिसकी जानकारी कोतवाली मे तैनात दरोगा विनोद सोनकर को हुई। 

दरोगा ने मांगे रुपए 10 हजार

दरोगा ने फोन करके पीडित को थाने के बाहर बुलाया और कहा सुऐब द्वारा पैसे वापस करने पर 10 प्रतिशत कमीशन मुझे देना पडेगा जिसपर पीडित ने बताया कि साहब मुझ पर कर्जा है उसे देना है मै कमीशन नही दे पाऊंगा दरोगा विनोद सोनकर ने कहा पैसे तो देने पडेगा यह कहते हुए साले मां बहन की गन्दी गंदी गालियां हुए कहा अगर पैसे नही दिया तो फर्जी एनडीपीएस मे जेल भेज दूंगा। यह कहते हुए पीडित को लात कर खेद दिया दरोगा के रवैये से पीडित आतक भय से काफी भयभीत है जिसकी लिखित शिकायत पुलिस अधीक्षक सहित गृह सचिव शासन से करके दरोगा के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज करने की गुहार लगाई है आखिरकार जनपद के पुलिस अधीक्षक क्या कार्रवाई करते हैं या तो समय के गर्भ में है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ