Subscribe Us

बाराबंकी : जिलाधिकारी ने मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाऐं मुहैया कराने के दिये निर्देश

  सगीर अमान उल्लाह

 बाराबंकी। जिलाधिकारी अविनाश कुमार द्वारा दिए गए निर्देशों के क्रम में जिला स्वास्थ्य समिति शासी निकाय की जनपद स्तरीय मासिक समीक्षा बैठक डीआरडीए गांधी सभागार में करते हुए मुख्य विकास अधिकारी श्री मती एकता सिंह ने स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं का व्यापक प्रचार प्रसार करने तथा लाभार्थियों को दी जाने वाली सहायता राशि के लम्बित भुगतानों को तत्काल कराने के साथ ही मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाऐं मुहैया कराने के निर्देश दिए।

मुख्य विकास अधिकारी ने समीक्षा के दौरान कहा की खसरा रूबेला (एमआर) का टीकाकरण बीमारियों से सुरक्षा प्रदान कराता है। यदि गर्भवती महिलाओं को रुबैल से प्रतिरक्षित किया जा चुका है तो नवजात शिशु भी सुरक्षित रहेंगे। उन्होंने छूटे हुए बच्चों को तत्काल चिन्हित करते हुए टीकाकरण कराने के निर्देश दिए। जननी सुरक्षा योजना में प्रगति खराब होने पर समस्त  एम.ओ.आई.सी. को योजना में अपेक्षित सुधार लाने के निर्देश दिए। जिले में शासन द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की समीक्षा करने के साथ सभी चिकित्साधिकारियों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं का डाटा आरसीएच पोर्टल/मंत्रा ऐप पर नियमित रूप से फीड कराने के निर्देश दिए। उन्होनें छूटे हुए व्यक्तियों का सर्वे कराने तथा कैम्प लगाकर आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनाने के निर्देश दिए।जिला स्वास्थ्य समिति के अंतर्गत आयोजित बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी ने ओ0पी0डी0,आई0पी0डी0, अल्ट्रासाउण्ड,एक्स-रे, पैथोलोजी,जननी सुरक्षा योजना/भुगतान,एफ0आर0यू0,जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम,बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम,राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम आर0बी0एस0के0 परिवार नियोजन,राष्ट्रीय अंधता एवं दृष्टिक्षीणता नियंत्रण,राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन,हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर के संचालन,एम्बुलेंस 108, नेशनल एम्बुलेंस सेवा 102, पी0पी0पी0 परियोजना,मातृ स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत संचालित प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत गोल्डन कार्ड निर्माण, नियमित टीकाकरण, जन्म-मृत्यु पंजीकरण,पी0सी0पी0एन0डी0टी0, मौसमी बीमारियां,संचारी रोग नियंत्रण अभियान, राष्ट्रीय कृमि मुक्त कार्यक्रम के साथ सभी राष्ट्रीय कार्यक्रमो, योजनाओं तथा गतिविधियों की समीक्षा कर मुख्य चिकित्साधिकारी को विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की रैंकिंग में सुधार लाने के निर्देश दिए। समीक्षा के दौरान एमओआईसी पुरेडलई द्वारा बताया गया कि एचआईवी किट अभी तक उपलब्ध नहीं कराई गई है, इस हेतु मुख्य विकास अधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए संबंधित को स्पष्टीकरण जारी करने के निर्देश दिए। टीकाकरण की प्रगति खराब पाए जाने पर टिकैतनगर के एमओआईसी के विरुद्ध स्पष्टीकरण जारी करने तथा सभी को अपेक्षित सुधार लाने के निर्देश दिए। एचआरपी का डाटा पोर्टल पर नियमित अपडेट न कराए जाने पर एमओआईसी रामनगर के लिए स्पष्टीकरण जारी करने के निर्देश दिए गए। उन्होंने ने समीक्षा करते हुए कहा कि जन्म मृत्यु पंजीकरण एवं आरसीएच सहित अन्य पोर्टल पर डाटा एंट्री ससमय सुनिश्चित की जाये।इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (महिला) , मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (पुरुष) , समस्त अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, समस्त प्रभारी चिकित्साधिकारी, जिला सूचना अधिकारी, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी तथा यूनिसेफ, पार्थ व डब्लूएचओ के प्रतिनिधि सहित अन्य संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ