Subscribe Us

दबंगों द्वारा जानलेवा हमले में इलाज के दौरान अधिवक्ता की मौत,वकीलों में आक्रोश सौंपा ज्ञापन

  इरशाद खान

बाराबंकी : जिला बार एसोसिएशन के महामंत्री रितेश कुमार मिश्र के नेतृत्व  अधिवक्ता  त्रिपुरारी नाथ मिश्र की अराजक आपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्तियों द्वारा उनको जान से मारने की नीयत से प्राणघातक हमलाकर गंभीर रूप से घायल की इलाज के दौरान ट्रामा सेंटर लखनऊ में जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ते हुए मृत्यु हो गई उनके परिवार को न्याय दिलाने हेतु व अपराधियों को कड़ी सजा दिलवाने व मृतक अधिवक्ता के परिवार की रक्षा, सुरक्षा  व उनको  न्याय दिलवाने हेतु तीन सूत्री प्रबल मांगए 1-मृतक अधिवक्ता  के हमलावरों के विरुद्ध रासुका की कार्यवाही करते हुए उनके मुकदमे की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में करवाई जाए ताकि जल्द से जल्द न्याय हो और अधिवक्ताओं के साथ अपराध कारित करने वालों के लिए एक नजीर बने2- मृतक अधिवक्ता के परिवार को तत्काल 50 लाख रुपये की आर्थिक मदद दिलवाई जाये 3- मृतक अधिवक्ता के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दि जाए का ज्ञापन जिलाधिकारी को दिया।विदित हो कि तहसील सिरौलीगौसपुर में विधि व्यवसाय करने वाले ईमानदार,कर्मठ व शांतिप्रिय विद्वान अधिवक्ता त्रिपुरारी नाथ मिश्र ग्राम इटौरा के मूल निवासी थे तथा वर्तमान में मोहल्ला जलालपुर जिला बाराबंकी में निवास कर रहे थे जिनपर 22 दिसम्बर को कुछ अराजक आपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्तियों द्वारा उनको जान से मारने की नीयत से प्राणघातक हमला किया गया था इस हमले में गंभीर रूप से घायल श्री मिश्र को उनकी गंभीर हालत के चलते इलाज हेतु ट्रामा सेंटर लखनऊ में भर्ती किया गया था जहां उनकी जिंदगी और मौत के बीच जंग जारी थी  किंतु 1 जनवरी 2023 को इलाज के दौरान उनकी दुखद मृत्यु हो गई उनकी ऐसी दुखद मृत्यु उनपर हुए हृदयविदारक जानलेवा हमले के कारण हुई है जो कतई सहनीय नही है मृतक विद्वान अधिवक्ता त्रिपुरारी नाथ मिश्र के परिवार में उनकी पत्नी सहित 4 पुत्रियां व 1पुत्र है जो उनकी मृत्यु से बेबस व बेसहारा हो गए हैं और उनका भविष्य अंधकारमय हो गया है।

दूसरों के हक की लड़ाई लड़ने वाले एक अधिवक्ता के साथ ऐसी आपराधिक घटना पूरे अधिवक्ता समाज की चिंता का विषय है जो रोष का पर्याय है जिसके चलते समूचा अधिवक्ता समाज अत्यधिक आक्रोशित है और अपराधियों को कड़ी सजा दिलवाने व मृतक अधिवक्ता के परिवार की रक्षा,सुरक्षा व उनको  न्याय दिलवाने हेतु तीन सूत्री प्रबल मांगो के साथ यह ज्ञापन प्रस्तुत कर सानुरोध अपेक्षा करता हैं कि श्रीमान जी उनका अविलंब सकारात्मक निस्तारण कर मृतक अधिवक्ता के परिवार को न्याय दिलाने के मांगो का ज्ञापन दिया. जिसमे मृतक अधिवक्ता के परिवार को तत्काल आर्थिक मदद हेतु मांग को मनवाने हेतु जिला बार के महामंत्री ने 5 घण्टे का धरना जिलाधिकारी के कार्यालय पर किया जहाँ अपर जिलाधिकारी राकेश सिंह ने दो दिनों में कुल 10 लाख रूपये की आर्थिक मदद का आश्वासन दिया व साथ ही साथ कहा कि जिले के प्रतिनिधियों से भी वार्ता की गई है वे भी मदद करेगे व 5 लाख की आर्थिक मदद के लिए तत्काल मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए रिकमेन्ट भी जिलाधिकारी द्वारी किया गया। जिसपर धरना समाप्त किया गया। व महामंत्री द्वारा तहसीलों में व्यप्त भष्ट्राचार के खिलाफ मोर्चा खोलने का सभी अधिवक्ताओ को आश्वासन दिया।

  इस अवसर पर जिला बार एसोसिएशन के महामंत्री रितेश कुमार मिश्र, सहित अध्यक्ष नरेन्द्र कुमार वर्मा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष मोहन कुमार सिंह, पूर्व अध्यक्ष राम गोपाल शुक्ला, पूर्व वरिष्ठ उपाध्यक्ष अधिवक्ता रमन लाल द्विवेदी, पूर्व महामंत्री सुनीत अवस्थी, पंकज यादव, महेन्द्र कुमार सिंह, मनोज कुमार श्रीवास्तव, गौरव गुप्ता, मनोज कुमार राजपूत, संजय कुमार, राम प्रताप, अमित कुमार, शाहीन अख्तर, संजीव बक्शी, अशोक द्विवेदी, गुड्डू यादव, नरसिंग यादव, महेन्द्र प्रताप यादव, बलराम यादव, अनूप कल्याण, अरूण बाजपेई, रितेश कुमार, शिव कुमार वर्मा, आमिर अबरार, दिवाकर सिंह, आसिफ, अरविन्द कुमार वर्मा, अनिल शर्मा, शुभम शर्मा, आर0पी0 गौतम, बृज मोहन वर्मा, संजय रावत, पंकज रावत, प्रशान्त पाण्डेय, वेद प्रकाश अवस्थी, अनुराग शुक्ला, पुरूषोत्म मिश्रा, उत्तम श्रीवास्तव, अरविन्द यादव, चन्द्रशेखर, प्रदीप श्रीवास्तव  आदि सैकड़ो अधिवक्ता उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ