Subscribe Us

सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का लाभ गांव तक पहुंचे : ब्लॉक प्रमुख

   सगीर अमान उल्लाह

  बाराबंकी। रामनगर जनता की समस्याओं का निस्तारण ही चौपाल का मुख्य उद्देश्य है। ग्रामीणों को सरकार के द्वारा संचालित जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिले और उनकी समस्याओं का प्राथमिकता के आधार पर निपटारा हो।

यह बात ब्लाक प्रमुख संजय तिवारी ने ग्राम पंचायत गर्री में आयोजित चौपाल में बोलते हुए कही। मुख्य अतिथि श्री तिवारी ने आगे कहा कि प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सोच है कि जब तक गांव और गरीब का विकास नहीं होगा तब तक देश का विकास नहीं हो सकता इसी पर परिकल्पना को आगे बढ़ाते हुए उनके द्वारा शासन की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने एवं उनकी समस्याओं का समाधान कराने के लिए प्रत्येक शुक्रवार को ग्राम पंचायतों में चौपाल लगाने का निर्णय लिया गया। इन चौपालों में सभी विभाग के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहकर जनता की समस्याओं का निस्तारण करेंगे कराएंगे। ब्लाक प्रमुख संजय तिवारी ने उपस्थित अधिकारियों कर्मचारियों से कहा कि किसी भी व्यक्ति को सरकारी योजनाओं का लाभ लेने अथवा परिवार रजिस्टर की नकल में प्रमाण पत्र आज बनवाने के लिए दौड़ना ना पड़े।खंड विकास अधिकारी अमित त्रिपाठी ने सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी। गांव में मनरेगा एवं अन्य योजना  के द्वारा कराए गए विकास कार्यों की समीक्षा की और भौतिक सत्यापन किया। जॉइंट बी डी ओ राजेश तिवारी ने समूह के माध्यम से लोगों को रोजगार से जुड़ने औरआत्मनिर्भर बनने की अपील की। एडीओ पंचायत राम आसरे पंचायत सचिव अखिलेश दुबे ग्राम प्रधान भगवती यादव ने भी अपने विचार रखे। इसके बाद खंड विकास अधिकारी अमित त्रिपाठी के द्वारा ग्राम पंचायत मीतपुर एवं बडनपुर में आयोजित चौपाल में सहभागिता की गई और उपस्थित लोगों को सरकारी योजनाओं के बारे में जानकारी दी गई इस मौके पर जॉइंट बी डी ओ राजेश तिवारी एडीओ पंचायत राम आसरे ग्राम प्रधान मीतपुर राम सिंह सचिव अखिलेश दुबे तकनीकी सहायक बराती लाल वर्मा सर्वजीत वर्मा पंचायत सहायक साक्षी सिंह ग्राम प्रधान बडनपुर आशा वर्मा रोजगार सेवक मनोज यादव राकेश वर्मा पंचायत सहायक महिमा वर्मा आदि लोग उपस्थित थे चौपालों में ब्लाक प्रमुख संजय तिवारी एवं खंड विकास अधिकारी अमित त्रिपाठी द्वारा ग्रामीणों की समस्याएं सुनी गई कुछ लोगों ने आवास दिलाए जाने की मांग की जिस पर अधिकारियों ने जांच कर उनका नाम पात्रता सूची दर्ज कराए जाने का आश्वासन दिया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ