Subscribe Us

बन्द पड़े कमरे में लगी आग,अंदर मिला अज्ञात ब्यक्ति का शव

  ख्वाजा खान

 सोनभद्र ओबरा। स्थानीय थाना क्षेत्र के अंतर्गत स्थानीय राम मंदिर कॉलोनी स्थित चित्रगुप्त मंदिर के पास देर रात करीबन 10 बजे आसपास के लोगों ने बंद कमरों के अंदर से तेज धुंआ उठता देख सूचना पुलिस और प्लाट मालिक को दी। कुछ ही देर में कमरों से आग की लपटें उठने लगी। फायर ब्रिगेड की मदद से आग बुझाकर जब लोग अंदर पहुंचे तो कमरे में एक व्यक्ति का शव पड़ा था।आग में पूरा शरीर झुलसने के कारण मृतक की पहचान नहीं हो सकी।मकान में देर रात संदिग्ध हाल में आग कैसे लगी लोग हैरान हैं।फायर ब्रिगेड की मदद से आग बुझाकर जब लोग अंदर जाना चाहे तो कमरे का दरवाजा अन्दर से बंद था।ए देख पुलिस भी हैरत में पड़ गई किसी तरह अन्दर से घुंडी को किसी तरह पुलिस खोल कर अन्दर गई तो वहाँ एक ब्यक्ति का शव पड़ा था जो आग से बुरी तरह झुलसा हुआ था जिससे उसको  पहचानना मुश्किल था।

जबकि उपरोक्त अर्धनिर्मित मकान पर बाहर से ताला लगा था,औरअंदर से भी कुंडी बंद थी। आशंका जताई जा रही है कि शव जलाने के मकसद से ही आग लगाई गई थी। सवाल यहाँ ऐ भी उठता है कि जब बाहर से ताला बंद था तो ब्यक्ति अन्दर कैसे गया।पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।श्रीराम मंदिर कॉलोनी में चित्रगुप्त मंदिर के समीप हिमांशु श्रीवास्तव का करीब पांच विश्वा का प्लाट है। बाउंड्री के अंदर तीन कमरे बने हुए हैं, जिस पर टीन की छत लगी है। गुरुवार की रात करीब 10 बजे आसपास के लोगों ने बंद कमरों के अंदर से तेज धुंआ उठता देख सूचना पुलिस और प्लाट मालिक को दी। कुछ ही देर में कमरों से आग की लपटें उठने लगी। मौके पर पहुंची पुलिस स्थानीय लोगों की मदद से आग बुझाने में जुट गई। कुछ ही देर में फायर ब्रिगेड की टीम भी पहुंच गई। करीब घण्टे भर की मशक्कत के बाद आग बुझाई जा सकी। मृतक की शिनाख्त नहीं हो पाई। प्लॉट मालिक के मुताबिक कमरे को उन्होंने कई माह पहले साफ सफाई कराने के बाद बाहर से ही बंद किया था। कमरे में बिजली कनेक्शन भी नहीं है। मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी  मिथिलेश मिश्रा,चौकी प्रभारी ओबरा अमित कुमार त्रिपाठी छानबीन में जुटे हुए हैं।उपरोक्त घटना की चर्चा का विषय बन गया है कि मरने वाला ब्यक्ति कौन है और बन्द पड़े कमरे में कैसे पहुँचा,और आग कैसे लगी इस तरह के कई सवाल लोगों के जहन में उठ रहा है।खैर मामला जो भी हो ऐ जाँच का विषय है।पुलिस जांच में जुट गई है अब देखना ऐ है कि पुलिस मामले का खुलासा करने में कब कामयाब होती है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ