Subscribe Us

बाराबंकी : मिर्जापुर में सिरत-उल-नबी पर नतिया मुशायरा का आयोजन किया गया

  रहमान खान

 बाराबंकी : बीती रात मौजा मिर्जापुर में सिरत-उल-नबी और नतिया मुशायरा का आयोजन किया गया।जिसकी अध्यक्षता मौलाना मुहम्मद अरकाम रशीदी ने की और निजामत की जिम्मेदारियां ग़ुफ़रान कामिल ने अदा की। मुख्य अतिथि मुफ्ती अब्दुल मतीन व खुर्शीद प्रधान थे।

 बैठक की शुरुआत पवित्र कुरान की तिलावत से हुई।जनता को संबोधित करते हुए मौलाना अरकम रशीदी ने कहा कि पैगंबरे इस्लाम का जीवन और उनके साथियों का जीवन हम सभी के लिए एक मिसाल है।

न पेश कर सकी दुनिया मिसाल दौर उमर।किया है आपने इंसाफ जो गुलाम के साथ। अरकम रशीदी

आबे ज़मज़म है अगर आपको पीना चलिए।लूटने रहमतों बरकत का ख़ज़ीना चलिए

बसा ले अपने जो क़ुरान पाक सीने में।हां उस पा नाज़ जहन्नम हराम हो जाए

 बू बक्र और उमर का मुक़द्दर तो देखिए।सोए हैं आज भी वो शहे अंबिया के साथ

इस मौके पर जीशान जहांगीराबादी,सिराज मदनी रामपुरी,हंजला अरकाम, इलियास अरकम,नौमान अफ़ज़ल रामपुरी, साहिल बिस्वानी, गुफ़रान कामिल ने भी अपने कलाम प्रस्तुत किए।

  काव्यपाठ में बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे।अंत में संयोजक एवं कवि हंजला अरकाम ने सभी लोगों का आभार व्यक्त किया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ