Subscribe Us

सरस्वती डेंटल कॉलेज में पहली बार हर्षोउल्लास के साथ मनाया गया "वर्ल्ड एनोटॉमी डे"

एनोटॉमी के बिना मेडिकल साइंस की कल्पना नहीं : डॉ रजत माथुर

जावेद शाकिब

लखनऊ। तिवारी गंज स्थित सरस्वती डेंटल कॉलेज के डिपार्टमेंट ऑफ़ एनाटोमी विभाग में पहली बार वर्ल्ड एनोटॉमी डे को धूमधाम के साथ मनाया गया। कार्यक्रम के तहत एनोटॉमी स्टूडेंट द्वारा एनोटॉमी को सरल बनाने के लिए बच्चो ने सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं बीडीएस प्रथम वर्ष के बच्चो ने उत्साह पूर्वक शारीरिक विज्ञान की सुंदरता से व्याख्या की। 

  प्रदर्शनी के माध्यम से शरीर के विभिन्न अंगों का महत्व बताया और एनोटॉमी में किस तरह से पढ़ाई का समावेश करते हुए शरीर रचना के कारण समाज लाभांवित होता है, उसके बारे में भी बताया गया। 

   कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अध्यक्ष / प्रेजिडेंट सरस्वती ग्रुप डॉ रजत माथुर थे। एनोटॉमी डिपाटमेंट में आयोजित कार्यक्रम में विस्तृत जानकारी देते हुए विभाग के एचओडी प्रो डॉ अशोक कुमार श्रीवास्तव एवं अतिरिक्त प्राचार्य डॉ. के एन दुबे, डॉ आर एन माथुर ने कहा कि एनोटॉमी के बिना मेडिकल साइंस की कल्पना नहीं की जा सकती। रोग व्याधि इसी शरीर मे होने है। शरीर रचना (एनोटॉमी का ज्ञान) सभी मेडिकल छात्रों को होना बेहद जरूरी है। मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ. के एन दुबे ने कहा कि यह जनता के बीच का विषय है, इसे आगे बढ़ाना जरूरी है। विभाग ने काफी सराहनीय कार्य किया है आम जनता को भी इस प्रदर्शनी को देखना चाहिए चिकित्सकों, मेडिकल स्टाफ के अलावा जनता तक विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से ये पहुंचा जाना बेहद जरूरी है। वहीँ केजीएमसी प्रो हेड डॉ पुनिता मानिक ने योग के माध्यम से एनोटॉमी विषय पर विस्तृत जानकारी दी।  

इस अवसर पर आयोजित प्रतियोगिता में भाग लिए छात्र छात्रों को प्रथम व द्वितीय  पुरस्कार देकर स्टूडेंट को सम्मानित किया। कार्यक्रम की सफलता में बीडीएस प्रथम वर्ष (सी.आर) सुरेंद्र कौर, अदिति चौरसिया  एवं सभी छात्रों  सदस्यों का विशेष सहयोग रहा। इनका कहना है कि इस तरह के आयोजन से स्टूडेंट के साथ अन्य विषय के चिकित्सक व जन समान्य को कई अहम जानकारियां मिलती हैं। इस मौके पर चेयर पर्सन मधु माथुर, डायरेक्टर स्मिता माथुर, डायरेक्टर एच एच आर सी, लेफिटिनैंट कर्नल संध्या के साथ लखनऊ के सभी मेडिकल कॉलेज के हेड इत्यादि लोग उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ