Subscribe Us

बाराबंकी : हाल ए लखपेड़ाबाग! यहाँ सड़क में गड्ढे या गड्ढों में सड़क, फर्क समझना मुश्किल

बड़ेल चौराहा से हाईवे संपर्क मार्ग पर चलना हो गया दूभर

सगीर अमान उल्लाह

बाराबंकी। एक तरफ योगी सरकार प्रदेश में विकास कराने के बड़े बड़े दावे करती है तो वही राजधानी से सटे बाराबंकी की खस्ताहाल सड़के सरकार के इस दावे की पोल खोलती नजर आती है। नगर पालिका के अधिकारी बीजेपी के बड़े नेताओं और जिले के अधिकारियों को सिर्फ उन्ही जगहों के विकास कामों को दिखाकर अपनी पीठ थपथपाते है जहां पर उन्होंने थोड़े बहुत विकास कार्य कराए होते हैं, लेकिन नगर की अधिकांश जर्जर सड़को की हालत से उन्हें बेखबर रखा जाता है। 

 बड़ेल के लखपेड़ाबाग मार्ग पर हमेशा गड्ढे बने रहते हैं। बरसात के बाद सड़क पूरी तरह से गड्ढों में परिवर्तित हो गई है। कभी कभार निर्माण विभाग का मन होता है तो कुछ गड्ढों में गिट्टी डामर डाल कर अपनी पीठ थपथपा ली जाती है। कहने को तो बड़ेल नहर से लखपेड़ाबाग मार्ग मात्र 2 किलोमीटर है। लेकिन गड्ढों के कारण 2 किलोमीटर का सफर तय करने में लगभग आधा घंटा लग जाता है। गड्ढों को यदा-कदा कभी भरा भी जाता है तो तमाम गड्ढे बिना भरे ही छोड़ दिया जाते हैं। सड़क इतनी ज्यादा खराब हो चुकी है कि नव निर्माण के अलावा दूसरा कोई रास्ता नहीं है जबकि निर्माण विभाग द्वारा नव निर्माण के लिए सड़क की नाप जोख भी हो चुकी है। यही हाल नहर के किनारे- किनारे बड़ेल चौराहा से हाईवे संपर्क मार्ग का है। लगभग 2 किलोमीटर का ये संपर्क मार्ग भी अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहा है। इस सड़क पर इतने अधिक गड्ढे हो गए हैं कि चार पहिया वाहन को तो जाने दीजिए साइकिल तथा 2 पहिया वाहन चलाना भी दूभर हो गया है।

   क्षेत्रीय जनता में इस बात को लेकर आक्रोश है। उनका आरोप है कि ये समस्या किसी भी अधिकारी को नजर नहीं आती। इस खराब सड़क पर गड्ढों की वजह से बीते कुछ महीनों में कई दुर्घटनाएं हो चुकी है गनीमत है कि इन हादसों में किसी किसी की जान  नही गई।  

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ