Subscribe Us

कल्याणी नदी में जमा सिल्ट को साफ़ कराकर डूबती फसलों को बचाया गया : संसद उपेंद्र सिंह रावत

  सगीर अमान उल्लाह

 बाराबंकी। शारदा नहर पर स्थित समरदा सैफन कल्याणी नदी पर जमा सिल्ट को साफ़ कराकर डूबती फसलों को बचाया गया।

  निन्दूरा विकास खण्ड के अंतर्गत शारदा नहर के नीचे से निकली कल्याणी नदी समरदा सैफन पर सिल्ट चोक हो जाने से विगत दिनों हुई बारिश में निंदूरा के लगभग एक दर्जन से अधिक गांवों की फसलें जलमग्न हो गयी थी। प्रभावित गांवों में भंडार, देवरा,सिरसईपुर,अन्नीपुर, नहान्नीपुर, बुधना, हाजीपुर आदि शामिल है जिससे निजात दिलाने के लिए क्षेत्र की जनता ने सांसद उपेन्द्र सिंह रावत से मुलाकात कर समस्या के समाधान के लिए गुहार लगाई थी। स्थानीय कृषकों की समस्याओं को देखते हुए स्केप की सिल्ट सफाई हेतु सिचाई विभाग एवं बाढ़ कार्य खंड के समस्त अधिकारियों को त्वरित समाधान हेतु निर्देशित किया था। सिचाई विभाग द्वारा सिल्ट सफाई का कार्य प्रारम्भ किया गया, कार्यस्थल पर सांसद उपेन्द्र सिंह रावत,अध्यक्ष जिला पंचायत राजरानी रावत के साथ पहुँचकर हो रहे कार्य का निरीक्षण किया सांसद उपेंद्र सिंह रावत ने कहा कि इस समस्या के स्थाई समाधान हेतु 1.86 करोड़ की परियोजना की स्वीकृति कराई गयी है सम्बन्धित अधिकारीयों से उक्त परियोजना के अंतर्गत जल्द से जल्द पुनरीक्षण एवं मरम्मत के कार्य कराने के निर्देश दिए । इस धनराशी से कल्याणी नदी में जमा सिल्ट की सफाई का कार्य तथा समरदा सैफन के पूर्वी व् पश्चिमी कल्याणी स्केप एवं लिंक ड्रेन के आंतरिक भाग का पुनरुद्धार किया जायेगा जिससे जलभराव की समस्या हमेशा हमेशा के लिए दूर हो जाएगी।

   इस मौके पर विशाल सिंह,प्रदीप रावत,राजकरन रावत,विनय मौर्य, सत्येंद्र सिंह, सुनील विश्वकर्मा, मिथुन रावत, कन्हैया रावत सहित सैकड़ों की संख्या में प्रभावित क्षेत्र के लोग उपस्थिति रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ