Subscribe Us

ई-रिक्शा चोरी करने वाले गिरोह का हुआ भण्डाफोड़, 7 लोगो को पुलिस ने किया गिरफ्तार

   मोहम्मद इमरान खान 

  उन्नाव। अजगैन पुलिस व एसओजी/सर्विलांस की संयुक्त टीम द्वारा ई-रिक्शा चोरी करने वाले गिरोह का भण्डाफोड़ करते हुए विभिन्न चोरी की घटनाओं को अंजाम देने वाले 7 अभियुक्तगण को गिरफ्तार किया गया। शुक्रवार को निरीक्षक दुर्गादत्त सिंह व उप निरीक्षक विनय कुमार यादव मय हमराह फोर्स एवं स्वाट टीम प्रभारी प्रदीप कुमार मय स्वाट/सर्विलांस टीम द्वारा मुखबिर खास की सूचना पर चमरौली तिराहे पर चैकिंग के दौरान अभियुक्तगण नादिस उर्फ दानिश पुत्र मुन्ना निवासी सोरबातलाब थाना सफीपुर, रूकसार पत्नी नादिस उर्फ दानिश पुत्र मुन्ना निवासी सोरबातलाब थाना सफीपुर, मुन्ना 26 पुत्र मौ0 सफी निवासी गोताखोर मोहल्ला शुक्लागंज थाना गंगाघाट, सगीर खान 40 पुत्र मिज्जन निवासी तालिब सराय थाना कोतवाली सदर, नूर आलम पुत्र नवी अहमद निवासी तालिब सराय थाना कोतवाली सदर, सब्बीर पुत्र मिज्जन निवासी तालिब सराय थाना कोतवाली सदर, राजू पुत्र शंकर निवासी मनोहर नगर गोसीया मस्जिद थाना कोतवाली नगर उन्नाव को गिरफ्तार किया गया।  जिनके कब्जे से दो तमन्चा व दो कारतूस, 6 ई-रिक्शा, एक मोटरसाइकिल व 20 बैटरी व 7 मोबाइल फोन व एक हजार रूपये नगद बरामद कर गिरफ्तार किया गया। पकड़े गये व्यक्तियों से गहनता से पूछताछ की गयी तो नादिस ने बताया कि 23 सितंबर 2022 को मैं व नूर आलम, सगीर और रूकसार तथा राजू द्वारा मिलकर योजना बनाते हुये एक व्यक्ति का ई-रिक्शा बुक करते हुये घटना कारित करते हुये ई-रिक्शा चुरा लिया था तथा ई-रिक्शा चालक को शराब में डाईजापाम की गोली डालकर बेहोश कर दिया था आगे उक्त ई-रिक्शा को खुद चलाते हुये आगे ले जाकर रमाडा होटल व पर्थ के बीच ई-रिक्शा चालक को बेहोशी हालत में डाल दिया था तथा ई-रिक्शा चुरा ले गये थे। उक्त बरामदगी के आधार पर थाना स्थानीय पर पूर्व में पंजीकृत मतरमीम किया गया तथा जामा तलाशी में जो 500 रू0 मिला है वह दिनांक 16.08.2022 को मेरे व सगीर उपरोक्त द्वारा 4000 रूपये एक व्यक्ति को धोखा देकर चोरी कर लिया था जिसमें हम लोगों के हिस्से में दो-दो हजार रूपया मिला था जिसमें से बचा हुआ पैसा 500 रूपया मेरे पास से बरामद हुआ है तथा सगीर ने पूछने पर बताया कि मुझे भी हिस्से में 2000 रूपया मिला था जिसमें से बाकी पैसे खर्च हो गये जो 500 रूपये बचा हुआ मेरे पास से बरामद हुआ है उसी चोरी का पैसा है । यह घटना मैं व सगीर ने मोटर साईकिल TVS  की थी जिस पर कोई नम्बर प्लेट नहीं है, थाना औरास से सम्पर्क करने पर ज्ञात हुआ कि इस सम्बन्ध में थाना औरास में मुकदमा पंजीकृत है। पूछताछ में नादिस ने बताया कि 30 सितंबर को मैं व सगीर मिलकर मलैय्या इण्टर कालेज के सामने सण्डीला रोड औरास से एक ई-रिक्शा को उसके चालक को जहरीला कोल्ड्रिंक पिलाकर चुरा लिया था तथा जिसकी बैटरी भी हम लोगो ने निकाल लिया था जिसे बचने के लिये शब्बीर को दे दिया था, इस घटना के सम्बन्ध में थाना औरास से पूछने पर ज्ञात हुआ कि उक्त घटना के सम्बन्ध में थाना औरास में मुकदमा पंजीकृत है तथा यह भी बताया कि 11 अक्टूबर को मैं व राजू ने भदनीपुरिया के पास से ई-रिक्शा चुराई थी जो बेचने के लिये ले जा रहे थे कि आपने पकड़ लिया, थाना माखी से जानकारी करने पर इस सम्बन्ध में मु0अ0सं0 284/22 धारा 328/379 भादवि पंजीकृत है । राजू उपरोक्त से पूछने पर राजू ने बताया कि मैं व मुन्ना लोगो ने 23 अक्टूबर की रात में ई-रिक्शा से ग्राम पोनी से एक ई-रिक्शा से बैटरी चुराई थी जिसकी चार बैटरी मेरी ई-रिक्शा पर रखी गयी है तथा दो अदद बैटरी भिन्न-भिन्न स्थान से चोरी की गयी है जिसके सम्बन्ध में थाना गंगाघाट पर मुकदमा पंजीकृत है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ