Subscribe Us

टीचर की मांग के बाद सरकारी अस्पतालों के बाहर हिंदी के साथ उर्दू में भी लिखे जाएंगे नाम

  उन्नाव संवाददाता

उन्नाव। सदर क्षेत्र के रहने वाले एक टीचर ने। टीचर ने शासन को पत्र लिखकर सरकारी अस्पतालों के बाहर नाम उर्दू में लिखे जाने की मांग की थी। टीचर की मांग मानते हुए शासन से सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को आदेश जारी किया गया है कि अस्पताल का नाम हिंदी के साथ उर्दू में भी लिखा जाए। वहीं चिकित्सा, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वह अपनी नेम प्लेट पर हिंदी के साथ-साथ उर्दू में भी नाम लिखें। बता दें कि उन्नाव सदर कोतवाली क्षेत्र के रहने वाले सरकारी टीचर के एक लेटर से एक भाषा को लेकर शासन स्तर पर बड़ी पहल हुई है. उत्तर प्रदेश शासन स्तर से सरकारी अस्पतालों के नाम हिंदी के साथ-साथ उर्दू में भी लिखे जाने के निर्देश चिकित्सा और स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारियों (CMO) को दिए गए हैं। वहीं चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, परिवार कल्याण विभाग के सभी अधिकारियों को निर्देश दिए गए है कि वह अपनी नेम प्लेट पर हिंदी के साथ-साथ उर्दू में भी नाम लिखें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ