Subscribe Us

निंदूरा ब्लाक प्रमुख पर कार्रवाई ना होने पर बीडीसी सदस्य दे सकते हैं सामूहिक इस्तीफा

  सगीर अमान उल्लाह

  बाराबंकी। उत्तर प्रदेश में योगी 2.0 की सरकार बनने के बाद भ्रष्टाचारियों और दबंगों पर कार्रवाई जारी है लेकिन बाराबंकी के निंदूरा ब्लॉक प्रमुख भ्रष्टाचार के खिलाफ बीडीसी सदस्यों के विरोध के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हो रही है ब्लॉक के 113 सदस्यों में से लगभग 80 सदस्य ब्लाक प्रमुख के विरोध में है और वह उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाना चाहते हैं लेकिन प्रशासन हीला हवाली में लगा हुआ है बीडीसी सदस्य अली अहमद के मुताबिक निंदूरा ब्लॉक प्रमुख रामू गुप्ता की दबंगई और भ्रष्टाचार का विरोध करने पर उन्हें जानमाल की धमकी दी गई आरोप यह भी है कि उनके ऊपर जानलेवा हमला भी किया गया इन्हीं मुद्दों को लेकर ब्लॉक के 113 सदस्यों में से तकरीबन 83 सदस्य ब्लाक प्रमुख के कार्य और व्यवहार से संतुष्ट नहीं है जिसकी वजह से जनता और विकास का कार्य प्रभावित हो रहा है इन्हीं विषयों पर 30 अगस्त को जिलाधिकारी को क्षेत्र पंचायत की धारा 15 के तहत ब्लाक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का आवेदन दिया गया था जिस पर 31 अगस्त को ब्लाक निंदूरा में सभी सदस्यों को उपस्थित रहकर जिला पंचायत राज अधिकारी और उप जिलाधिकारी फतेहपुर के सामने परेड और अविश्वास प्रस्ताव का अवलोकन कर आने के लिए निर्देशित किया गया था लेकिन 31 अगस्त को वहां कोई भी प्रशासनिक अधिकारी नहीं पहुंचा इससे नाराज तकरीबन 80 सदस्य क्षेत्र पंचायतों ने आज पुनः जिलाधिकारी से वार्ता करके मांगों का ज्ञापन सौंपा पंचायत सदस्य अली अहमद के मुताबिक डीएम ने आश्वासन दिया है कि वह प्रार्थना पत्र को उप जिलाधिकारी फतेहपुर को भेजेंगे उप जिलाधिकारी तमाम हस्ताक्षर ओं की जांच करने के बाद अविश्वास प्रस्ताव की प्रक्रिया प्रारंभ करेंगे क्षेत्र पंचायत सदस्य भानु प्रताप सिंह का भी यही आरोप है कि उनकी ब्लॉक में सुनी नहीं जाती तमाम काम बिना नोटिस कराए जाते हैं वह चाहते हैं कि ब्लाक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया जाए अगर ऐसा नहीं होता है तो सभी सदस्य सामूहिक इस्तीफा दे देंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ