Subscribe Us

दस सूत्रीय मांगों को लेकर ग्राम रोजगार सेवक संघ ने सौंपा ज्ञापन

  असदुल्लाह सिद्दीकी

  सिद्धार्थनगर। ग्राम रोजगार सेवक संघ इकाई सिद्धार्थनगर ने डीएम को संबोधित मुख्यमंत्री के नाम सौंपा दस सूत्रीय मांगपत्र।उत्तर प्रदेश ग्राम रोजगार सेवक संघ प्रदेश कार्यकारिणी के आह्वान पर ग्राम रोजगार सेवक संघ सिद्धार्थ नगर इकाई द्वारा 6 सितंबर मंगलवार को सिद्धार्थनगर के जिलाधिकारी कार्यालय पर एक आवश्यक बैठक हुई। बैठक के बाद संघ की समस्या के समाधान हेतु जिला अधिकारी को मुख्यमंत्री के नाम सबोधन 10 सूत्रीय मांग पत्र सौंपा गया।बैठक मे उत्तर प्रदेश रोजगार सेवक संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष विजय कुमार मिश्रा ने संबोधित किया। उन्होंने उपस्थिति सेवक संघ के रोजगारों को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले पांच वर्षों में प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 4 अक्टूबर को लखनऊ के डिफेन्स एक्स्पो मैदान में रोजगार सेवकों सहित मनरेगा कार्मियों के हित में अनेकों जनहित घोषणाएं की गई थी। जो आज तक धरातल पर शासनादेश के रूप में परिवर्तित नहीं हुई और ना ही दिखाई दे रही है। इसी क्रम में उन्होंने कहा कि अगर सूबे कि सरकार उक्त घोषणा को शासनादेश में परिवर्तन नहीं कि तो प्रांतीय स्तर पर आंदोलन करने पर बाध्य होगी। बैठक को जिला अध्यक्ष सुनील चतुर्वेदी ने भी संबोधित किया मिश्रा ने बताया कि 10 सूत्रीय मांग मे 4 अक्टूबर को लखनऊ के डिफेंस एक्सपो मैदान में रोजगार सेवकों सहित मनरेगा कर्मियों के हित में अनेकों जनहित घोषणाएं। ग्राम रोजगार सेवकों से मूल ग्राम पंचायत के साथ-साथ रिक्त ग्राम पंचायतों कार्य लिया जाये। रोजगार सेवकों के मृत्यु के बाद उनके परिजन को सेवा में समायोजित किया जाए।राज्य वित्त,केंद्रीय वित्त, एवं अन्य निधियों में श्रमिकों की मजदूरी भुगतान मनरेगा से किया जाय। नियमित किया जाए। बिल बाउचर, मास्टर रोल पर अनिवार्य हस्ताक्षर कराया जाए। प्रत्येक माह प्रदेश स्तर एवं जनपद स्तर पर समस्याओं का निस्तारण हो। इस अवसर पर अनुज त्रिपाठी, उपेंद्र कुमार पांडे, उमाकांत वर्मा, बबलू मिश्रा, अमित श्रीवास्तव, संतोष पाल, सुरेंद्र मिश्रा सहित सभी रोजगार सेवक मौजूद रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ