Subscribe Us

विक्षिप्त युवती से दुष्कर्म मामले में लापरवाही पड़ी भारी, पुलिस अधीक्षक ने चौकी प्रभारी समेत 3 पुलिसकर्मियों को किया निलंबित

  मोहम्मद इमरान खान 

 उन्नाव। जनपद में एसपी दिनेश त्रिपाठी ने एक विक्षिप्त युवती से दुष्कर्म के मामले में लापरवाही बरतने पर चौकी प्रभारी, हेड कांस्टेबल और एक सिपाही को निलंबित कर दिया है। वहीं, थाना पुलिस ने पीड़िता को मेडिकल जांच के बाद कोर्ट में 164 के बयान दर्ज करवाने के बाद परिजनों को सौंप दिया है। इसके साथ ही मामले में गिरफ्तार किए आरोपी से पूछताछ के बाद गुरुवार को पुलिस उसे कोर्ट में पेश करेगी। जानकारी के अनुसार, पांच दिन पहले दुष्कर्म का शिकार बनी विक्षिप्त युवती कानपुर नगर की रहने वाली है। 18 सितंबर को वह घर से चोरी-छिपे भाग आई थी। परिजनों ने उसकी गुमशुदगी बजरिया थाने में दर्ज कराई थी। जानकारी होने के बाद पीड़िता का भाई व बहनोई अचलगंज थाने पहुंचे, जहां से पुलिस ने उन्हें कोर्ट भेज दिया था। मामले में इंस्पेक्टर अरविन्द पांडेय ने बताया कि कोर्ट में 164 के बयान होने के बाद पुलिस ने पीड़िता को परिजनों के सुपुर्द कर दिया। पीड़िता के भाई ने बताया कि वह दो बहनों में बड़ी है। छोटी की शादी हो चुकी है। दो भाई है। पिता की पहले ही मौत हो चुकी है। वह बीस साल से मानसिक बीमारी से ग्रसित है। वहीं, इस मामले में एसपी दिनेश त्रिपाठी ने कहा कि समय से सूचना एकत्र नहीं की गई थी। इस पूरे मामले पर उन्नाव एसपी ने मामले को संज्ञान में लेते हुए बदरका चौकी प्रभारी प्रेम नारायण सरोज व हेड कांस्टेबल रमापति मिश्र व आरक्षी अंकित वर्मा को निलंबित कर दिया। उन्होंने कहा कि आगे भी अगर किसी थाना व चौकी पर घटना व वारदात होती और समय से जानकारी नहीं दी जाएगी। ऐसी दशा में दोषी पुलिस कर्मियों को बख्शा नहीं जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ