Subscribe Us

विशेष संचारी रोग निंयत्रण अभियान/दस्तक अभियान की समीक्षा बैठक सम्पन्न

  ब्युरो सगीर अमानु उल्लाह

बाराबंकी। मुख्य विकास अधिकारी एकता सिंह की अध्यक्षता में दस्तक अभियान की कलेक्ट्रेट सभागार में अन्तर्विभागीय समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में उन्होने अभियान से जुड़े जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि शासन के आदेशानुसार विशेष संचारी रोग नियत्रंण अभियान व दस्तक अभियान द्वारा संचारी रोगों एवं दिमागी बुखार पर प्रभावी कार्यवाही करते हुए अपने दायित्वों का ईमानदारी से निर्वहन करने के साथ अभियान की सफलता शत-प्रतिशत सुनिश्चित करें।मुख्य विकास अधिकारी द्वारा  पंचायती राज विभाग द्वारा झाड़ियों की कटाई का कार्य  , नालियों की सफाई कार्य रुके हुए पानी का निस्तारण,स्वच्छ पीने के पानी की उपलब्धता, शिक्षा विभाग द्वारा स्कूली बच्चों को अध्यापकों द्वारा संक्रामक रोगों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराने का कार्य, कृषि विभाग द्वारा परिवारों को चूहों,छछूंदर, झाड़ी से स्क्रब टायफस के बारे में जानकारी दिए जाने का कार्य, पशुपालन विभाग द्वारा सूअर पालकों का संवेदीकरण कार्य और इसी प्रकार से बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग की आंगनबाड़ियों द्वारा आशाओं के साथ घरों का भ्रमण कार्य व नगर निगम द्वारा झाड़ियों की कटाई का कार्य आदि बिंदुओं पर विस्तार से समीक्षा की गयी। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा मसौली, दरियाबाद, सूरतगंज व सिरौलीगौसपुर  ब्लॉकों में अभियान से संबंधित संतोषजनक प्रगति न पाए जाने पर कड़ी आपत्ति जताई गयी बैठक में मुख्य विकास अधिकारी ने जनपद के समस्त विकास खण्डों में आवंटित फागिंग मशीन  द्वारा सही ढंग से कार्य करने का निर्देश दिया। ग्राम सभाओं में खराब हैण्डपम्प का पानी पीने से भविष्य में संक्रमण फैलने का खतरा अधिक रहता है। इसलिए उन्होने पंचायती राज विभाग को निर्देशित किया कि खराब हैण्डपम्पों को जल्द से जल्द ठीक कराया जाए। उन्होने यह भी निर्देश दिया कि कार्यक्रम सम्बन्धी प्रचार-प्रसार सामग्री उपलब्ध कराकर ग्राम सभाओं में अनिवार्य रूप से किया जाए। जनपद में सुअरवाड़ों की स्थिति खराब है इसे प्रत्येक मालिक से मिलकर उनको संवेदीकृत करें एंव छिड़काव कार्य कराया जाए। ग्राम सभाओं में झाड़ियों, तालाबों आदि की साफ-सफाई अभियान चलाकर की जाए। तथा प्रत्येक विद्यालय में हैण्ड वाश की जानकारी दी जाए तथा उनके परिवार को भी इसके प्रति जागरूक किया जाए। 

उन्होने कहा कि अभियान के तहत स्वास्थ्य विभाग द्वारा 31 जुलाई, 2022 तक प्रतिदिन आशाओं के माध्यम से वीएचएनडी सत्रों पर संचारी रोग संबंधी बैठक, टीकाकरण, दिमागी बुखार केस की निगरानी, उपचार और मलेरिया विभाग द्वारा लार्वारोधी गतिविधियां चलाई जाये तथा आवश्यकतानुसार फागिंग करायी जाये। नगरीय निकायों द्वारा समस्त वार्डाे में प्रतिदिन नाली, नालों की सफाई, कचरा निस्तारण फागिंग आदि कराने के साथ सभी वार्डाे में विशेष सफाई अभियान चलाकर पूर्व की भांति सफाई व्यवस्था सुनिश्चित की जाये और वार्डवासियों को संचारी रोग के बचाव के लिए घर व आस-पास सफाई रखने के प्रति जागरूक भी करें। पंचायती राज विभाग द्वारा अभियान के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में फागिंग/छिड़काव एवं गांवों में विशेष सफाई अभियान के दौरान गलियों, नालियों आदि की सफाई, झाड़ियों की कटाई, संचारी रोग से बचाव हेतु ग्रामवासियों के साथ बैठक, प्रभात फेरी, जागरूकता रैली आदि का आयोजन किया जाये तथा पशु पालन विभाग द्वारा सूकर पालकों का चिन्हींकरण कर आबादी से दूर स्थापित करने हेतु प्रेरित करना और पोल्ट्री व्यवसाय के लोगों को संचारी रोग से बचाव तथा सफाई आदि के बारे में सूचित/संवेदीकृत किया जाये इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ रामजी वर्मा, समस्त अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी , जिला कार्यक्रम अधिकारी , जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी , जिला कृषि रक्षा अधिकारी, डब्ल्यू0एच0ओ0 व यूनिसेफ के प्रतिनिधि सहित समस्त प्रभारी चिकित्साधिकारीगण उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ