Subscribe Us

सिद्धार्थनगर : अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस पर कार्यक्रम आयोजित

  असदुल्लाह सिद्दीकी

सिद्धार्थनगर। बाघों को संरक्षण देने और उनके प्रजाति को विलुप्त होने से बचाने के लिए 29 जुलाई को विश्व बाघ दिवस  मनाया जाता है ।बाघ भारत का राष्ट्रीय पशु है ,इसके बावजूद भारत में वर्ष 2010 से बाघ विलुप्त होने के कगार पर पहुँच गए थे। उनके संवर्धन व विकास हेतु हमें सतत जागरूक रहना चाहिए ।पूरी दुनिया में सबसे अधिक बाघ भारत में पाए जाते हैं। बाघों और जंगली जानवरों से जंगल की सुरक्षा होती है और जंगल से सभी प्राणि जगत को शुद्ध प्राणवायु ऑक्सीजन ,लकड़ी,फल आदि मिलता है। वन्य प्राणी प्रकृति के अनिवार्य अंग है। इनके संरक्षण और विकास से प्रकृति का विकास होता है। उक्त विचार उ० प्र० वन एवं वन्य जीव विभाग   के निर्देशानुसार सामाजिक वानिकी वन प्रभाग सिद्धार्थनगर द्वारा राजकीय इंटर कॉलेज नौगढ़ में प्रभागीय वनाधिकारी के निर्देश पर आयोजित अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस पर पीके त्रिपाठी एसडीओ  सिद्धार्थ नगर ने  व्यक्त किया। एस०डी० ओ० ने कहा कि वर्तमान समय में देश में कुल 52 टाइगर रिजर्व है। भारत का पहला टाइगर रिजर्व जिम कार्बेट है ।भारत का सबसे बड़ा टाइगर रिजर्व नागार्जुन सागर श्रीसैलम है ।जबकि देश में सबसे छोटा टाइगर रिजर्व महाराष्ट्र के पेंच में है। देश के कुल 18 राज्यों में बाघ पाए जाते हैं। 2019 की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 2967 की संख्या में  बाघ है। देश में सबसे ज्यादा 526 बाघ मध्यप्रदेश में हैं ।आज सरकार द्वारा वन्य प्राणियों के विकास व संवर्धन के प्रति संवेदनशीलता व जागरूकता के कारण देश के केरल, महाराष्ट्र, बिहार और मध्य प्रदेश में बाघों की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है, जो प्रकृति के लिए एक बेहतर संदेश है ।आज के इस अवसर पर हम सभी को वन्य प्राणियों और बाघों के अवैध शिकार पर रोक लगाते हुए बाघों के पर्याप्त संरक्षण और विकास हेतु  कृतसँकल्पित होना चाहिए तभी हम प्रकृति के सर्वाधिक विकसित प्राणी के रूप में प्रतिष्ठित हो सकेंगे ।अध्यक्षीय संबोधन में राम नवल, प्रधानाचार्य ने कहा कि बाघों का संरक्षण किया जाना अति आवश्यक है। इनसे जंगल व हम सभी  की सुरक्षा व जंगल से प्राणि जगत की सुरक्षा होती है। उक्त अवसर पर स्कूली बच्चों के बीच बाघों के संरक्षण और विकास पर आधारित भाषण, वाद विवाद, क्विज तथा चित्रकला प्रतियोगिता व बाघ संरक्षण रैली भी  आयोजित की गई। चित्रकला प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्रीति यादव द्वितीय स्थान नरगिस बानो तृतीय स्थान अंजली रस्तोगी, वाद विवाद प्रतियोगिता  एवम क्विज में प्रथम स्थान राजिदा खातून एवम उनकी टीम को, द्वितीय स्थान नरगिस बानो एवम उनकी टीम तथा भाषण प्रतियोगिता में प्रथम स्थान नरगिस बानो द्वितीय स्थान अंजलि रस्तोगी एवम तृतीय स्थान प्रीति यादव और सांत्वना पुरस्कार सुफियान को मिला। कार्यक्रम में गर्जन राम क्षेत्रीय वन अधिकारी नौगढ़ , वन दरोगा शैलेंद्र यादव, कृपाशंकर ,लाल बहादुर, प्रवक्ता डॉ अशोक कुमार पाल, डॉ आशीष कुमार श्रीवास्तव, सत्येंद्र कुमार शुक्ला, महेंद्र कुमार दुबे, बाबूराम ,बाल गोविंद मौर्य, आशुतोष कुमार दुबे ,विजय प्रताप तथा सुरेश प्रसाद तिवारी ए एस ओ स्काउट गाइड बस्ती मंडल, कुलदीप सिंह जिला प्रशिक्षण आयुक्त स्काउट बस्ती, हरिश्चंद्र यादव जिला संगठन आयुक्त स्काउट सिद्धार्थनगर, अमर चंद वर्मा स्काउट मास्टर बस्ती समेत तमाम लोग स्कूली बच्चे वन कर्मी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन सिद्धार्थ शंकर पांडे द्वारा किया गया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ