Subscribe Us

अग्निपथ योजना के खिलाफ कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने निकाला रोष मार्च

  अग्निपथ योजना से युवाओं के भविष्य के साथ होगा खिलवाड़: करण भगत        

 नरेश जमवाल, स्टेट हैड जम्मू कश्मीर

   आर एस पुरा! सरकार द्वारा सेना में भर्ती होने के लिए शुरू की गई अग्निपथ योजना को जल्द वापिस लिए जाने की मांग को लेकर आज कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जोरदार तरीके के साथ प्रदर्शन किया और सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर जल्द से जल्द इस योजना को वापस नहीं लिया गया तो कांग्रेस पार्टी की तरफ से आने वाले दिनों में इसके खिलाफ बड़ा आंदोलन छेड़ा जाएगा! कांग्रेस पार्टी एस. सी सेल के राज्य चेयरमैन करण भगत की अध्यक्षता में हुए इस विरोध प्रदर्शन के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ साथ सेना में भर्ती होने के इच्छुक युवाओं ने एसडीएम कार्यालय से लेकर देवेंद्र चौक तक एक तिरंगा रैली भी निकाली और सरकार को संदेश देने का काम किया कि जल्द से जल्द इस योजना को वापस लिया जाए! इस मौके पर अपने विचार रखते हुए कांग्रेस नेता करण भगत ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार ने अग्निपथ योजना लागू करके देश के युवाओं के भविष्य के साथ बहुत बड़ा खिलवाड़ किया है और यह योजना पूरी तरह से युवा विरोधी है! उन्होंने कहा कि योजना शुरू होने के बाद लगातार देश का युवा सड़कों पर है और कांग्रेस पार्टी युवाओं के साथ खड़ी होकर उनका समर्थन कर रही है! उन्होंने कहा कि जब तक सरकार इस योजना को वापस नहीं ले लेती तब तक कांग्रेस पार्टी का आंदोलन देश भर में जारी रहेगा! उन्होंने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार खुद आगे आने के बजाय भारतीय सेना के तीनों अंगों के प्रमुख को आगे कर रही है! उन्होंने कहा कि सारा देश भारतीय सेना का सम्मान करता है लेकिन सरकार की इस योजना का पुरजोर विरोध जारी रहेगा! उन्होंने कहा कि आज सरकार को जगाने के लिए एक संकेतिक रैली निकाली गई है और अगर सरकार ने जल्द से जल्द इस तरफ कोई कदम नहीं उठाया तो आने वाले दिनों में बड़ा आंदोलन छेड़ा जाएगा जिसकी जिम्मेदारी केंद्र की भाजपा सरकार की होगी! उन्होंने कहा कि 4 साल सेना में सेवाएं देने के बाद युवा फिर से बेरोजगार हो जाएंगे और ना ही उन्हें पेंशन का कोई लाभ दिया जाएगा! इस मौके पर पूर्व सरपंच राजेंद्र सिंह नत्थू, सरपंच मोहम्मद सादिक, राकी शर्मा, अशोक कुमार सहित काफी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता तथा नौजवान उपस्थित रहे!

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ