Subscribe Us

निरक्षर बंदियों के लिए स्मार्ट क्लास (आई.सी.टी.) के माध्यम से पौढ़ शिक्षा कार्यक्रम की शुरुआत

   असदुल्लाह सिद्दीकी

सिद्धार्थनगर। जिले मे आज जिला कारागार सिद्धार्थनगर में जिला अधिकारी द्वारा निरक्षर बंदियों के लिए शिव नाडर फ़ाउंडेशन के शिक्षा एवं प्रौढ़ शिक्षा कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। शिव नाडर फाउंडेशन के द्वारा जिला कारागार सिद्धार्थनगर में महिला निराक्षर बंदियों के लिए राज्य संसाधन केंद्र की "नई किरण"किताब पर आधारित डिजिटल कंटेंट द्वारा साक्षर बनाने की दिशा में कार्य किया जाएगा।यह कार्यक्रम प्रति बैच 120 दिन तक चलेगा एक बैच में 25 महिला बंदी रहेंगी,कार्यक्रम के दौरान छह बार शामिल बंदियों मूल्यांकन किया जाएगा ।कक्षा का संचालन कारागार में निरुद्ध चिन्हित महिला साक्षर बंदियों के द्वारा किया जाना है जिनको संस्था के द्वारा 16 और 17 जून को प्रशिक्षण दिया गया है।फाउंडेशन की तरफ से कारागार को स्मार्ट क्लास हेतु डिजिटल कंटेन्ट के साथ लैपटाप, प्रॉजेक्टर साथ बंदियों को लर्नर किट (जूट का झोला जिसमे कॉपी, नई किरण किताब, वर्कबुक, पैन्सिल, रबर, कटर, स्लेट, चाक इत्यादि सामाग्री दी गयी।कार्यक्रम का उद्घाटन जिला अधिकारी संजीव रंजन सिद्धार्थनगर के उपस्थिति में किया गया। इस अवसर पर जिला अधिकारी द्वारा महिला बंदियों को संबोधित करते हुए कहा गया कि कारागार में अपने समय का सदुपयोग करते हुए इस कार्यक्रम को सफल बनाएं जिससे जब वह बाहर जाएं तो समाज की मुख्यधारा में सम्मिलित होकर अपना योगदान दे सकें। कार्यक्रम का संचालन संस्था के प्रतिनिधि कार्तिकेय पांडे ने किया। इस अवसर पर जेल अधीक्षक अभिषेक चौधरी, प्रभारी जेलर अनिल कुमार पांडे एवं डिप्टी जेलर प्रदीप कुमार सिंह तथा कारागार के अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ