Subscribe Us

“योगी हैं तो यकीन है”

   डॉ. अजय कुमार मिश्रा                          

  किसी भी राज्य की समृद्धि और छवि का मूल्यांकन करने के अनेकों निर्धारित पैरामीटर है, जिन्हें व्यवहार में लाकर स्थिति का आकलन किया जाता है | यह आंकड़ों पर आधारित होता है, पर वर्तमान व्यवस्था में कई राज्य आंकड़ों को तोड़-मरोड़ करके भी अपने पक्ष की बातों को प्रचारित प्रसारित कर रहें है | इसके ठीक विपरीत और वास्तविक मूल्यांकन की प्रभावशाली पद्धति इस विषय में आम जनता की आवाज को जानना है, जिससे स्वतः ही प्रमाणित हो जाता है की राज्य की समृद्धि और छवि की जमीनी वास्तविकता वास्तव में क्या है | अच्छी और बुरी दोनों परिस्थति के लिए राज्य के मुखियां को सीधे तौर पर सभी जिम्मेदार मानते है | ऐसे में यदि नेतृत्वकर्ता दशकों के इतिहास को बदल करके पुनः सत्ता में आये तो जनता की आवाज स्पष्टतः सुनाई पड़ती है | हम बात कर रहें है उत्तर प्रदेश की जहाँ वर्ष 2017 के पूर्व न केवल भारत में बल्कि वैश्विक स्तर पर प्रदेश की छवि नकारात्मक बन चुकी थी | श्री योगी आदित्यनाथ ने न केवल प्रदेश की नकारात्मक छवि को समाप्त किया, बल्कि अपने प्रभावशाली कार्यशैली से वैश्विक मंच पर सकारात्मक छवि स्थापित भी किया है | इस कार्य का सीधा श्रेय उत्तर प्रदेश के मुखिया यानि की श्री योगी आदित्यनाथ को ही जाता है, जिन्होंने प्रदेश की दशा और दिशा बदल कर रख दी है।

श्री योगी आदित्यनाथ के भाषणों में ही भविष्य की परिकल्पना, कठिन परिश्रम, दूरदर्शिता की झलक और आम आदमी के विकास की प्रतिबद्धता स्वतः देखने को मिलती रहती है | हाल ही में उन्होंने विधानसभा की कार्यवाही में विपक्ष को जबाब देते हुए कहा कि “आप समस्या के बारें में सोचतें है, हम समाधान के बारें में सोचतें है | क्योंकि जब कोई व्यक्ति समस्या के बारें में सोचता है तो उसकों बहाने दस मिल जाते है | जब समाधान के बारें में सोचतें है तो हमें रास्तें मिल जाते है | हमें इस बात को याद रखना होगा की उत्तम समय कभी नहीं आता है, समय को तो उत्तम बनाना पड़ता है | हम लोगों ने उस समय को ही उत्तम बनाया है | गाँव, गरीब, किसान, नौजवान, महिलाएं, समाज के प्रत्येक तबकें के हितों के लिए क्या कुछ किया जाना है उसका समाधान भी हमारें पास है और उस प्रकार की योजनायें बनती है, उन योजनाओं को ले करके हम लोग आगे बढ़ते है और उन्ही योजनाओं को फिर ईमानदारी के साथ क्रियान्यवन होना है, उन्ही को ले करके जब सरकार आगे बढ़ती है तो उसके परिणाम भी हम सब के सामने देखने को मिलता है” इन शब्दों में उनकी भविष्य की नीति और वर्तमान की कठिन परिश्रम की झलक, आम आदमी के विकास की प्रतिबद्धता को आसानी से देखा और समझा जा सकती है।

आज उत्तर प्रदेश के मुखिया श्री योगी आदित्यनाथ जी का जन्मदिन है और यह खास इसलिए भी है की प्रदेश की 24 करोड़ से अधिक आबादी के उम्मीदों को सार्थक रूप देने का श्रेय सीधे तौर पर इन्हें ही है | ऐसे में यह दिन प्रदेश के प्रत्येक निवासियों के लिए हर्षौल्लास का दिन है | अपने पांच वर्ष से अधिक के शासन काल में इनके नेतृत्व में अनेकों उपलब्धियां रही है | जिसका सरोकार सभी तबकों से है | प्रदेश की जीडीपी देश के राज्य और केंद्र शासित प्रदेश में तीसरे स्थान पर रही है | प्रदेश में शत-प्रतिशत घरों में शौचालय का निर्माण पूरा हुआ है | शत प्रतिशत घरों में बिजली की पहुँच हुई है | राज्य और केंद्र शासित प्रदेश में व्यापार करने में आसानी की रैंकिंग में उत्तर प्रदेश दुसरें नंबर पर है | कोरोना काल में योगी के नेतृत्व की वजह से ही प्रदेश की आम जनता के जीवन की बड़े पैमाने पर रक्षा की जा सकी | शिक्षा और स्वास्थ्य की दशा में व्यापक सुधार हुआ है | सड़कों का निर्माण तेजी से हुआ है | प्रदेश की कुल जनसँख्या का लगभग 60% लोगों को सरकार द्वारा कोरोना काल से ही निशुल्क राशन उपलब्ध कराया जाना भी जनता के हितों के प्रति तटस्थता को दर्शाता है | किसानों को कृषि कार्य में सहूलियत एवं समय पर भुगतान की चर्चा हर जगह है | विपक्ष या कई मीडिया बेरोजगारी की बात को कई मौको पर उठाते है जबकि, सीएमआईइ के इस विषय में मार्च 2022 के जारी आकड़ों के अनुसार उत्तर प्रदेश की बेरोजगारी दर 4.36 रही है , जो कि  देश के राज्य और केंद्र शासित प्रदेश में 19 क्रम पर है यहाँ से अधिक बेरोजगारी दर (5.57 से 26.72 के मध्य) 18 राज्यों में रही है।

                   Dr Ajay Kumar mishra

देश की सबसे बड़ी आबादी वाला प्रदेश, दशकों से रोटी, कपडा, मकान, चिकित्सा और रोजगार के लिए संघर्षरत रहा है | विगत के 5 वर्षो से अधिक के समय में श्री योगी आदित्यनाथ ने न केवल उन समस्याओं को पहचाना बल्कि उनकी समाप्ति के लिए गंभीरता से योजनायें बना करके कार्य कर रहे है | सरकारी विभागों में कार्यरत कर्मचारियों में कार्य के प्रति प्रतिबद्धता और पारदर्शिता करके उन्होंने यह एहसास कराया है कि जनता का हित सर्वोपरि है | 84 हजार करोड़ से अधिक के निवेश की कल आयोजित बैठक भी इस बात का प्रत्यक्ष प्रमाण है की प्रदेश की जनता की उन्नति के लिए प्रदेश का मुखियां कितनी सिद्दत से कार्य कर रहे है | भ्रष्टाचार पर अंकुश, माफियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही, दंगाईयों पर कार्यवाही, शांति व्यवस्था बनाये रखना, विकास के लिए लगातार कार्य करना, गरीबों के लिए योजनाये बनाकर पारदर्शी तरीके से लागू करना, अयोध्या, कशी, मथुरा का विकास करना, राम मंदिर निर्माण में बढ़चढ़ कर सहयोग करना, आम जनता के दिलों में योगी को महत्वपूर्ण स्थान दे रहा है | आज उनके जन्मदिन पर सभी की आकांक्षाएं यही है की इसी तेज गति से प्रदेश का विकास करते रहें जिससे प्रदेश की अंतिम पक्तिं में खड़े आदमी का जीवन सामाजिक और आर्थिक रूप से परिवर्तित हो जाये साथ ही प्रदेश देश की सभी महत्वपूर्ण रैंकिंग में प्रथम स्थान पर हो | क्योंकि योगी है तो आम जन को प्रदेश के विकास का यकीन है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ