Subscribe Us

कालानमक चावल का पुराना इतिहास,हमारे पूर्वज 2500 वर्ष पूर्व से इसकी खेती कर रहे.. मुख्यमंत्री

   असदुल्लाह सिद्दीकी

सिद्धार्थनगर। प्रदेश के पांच जनद आगरा, सीतापुर, अम्बेडकर नगर, आजमगढ़ तथा सिद्धार्थनगर में बने सी.एफ.सी. का बर्चुअल उद्घाटन कार्यक्रम के अन्तर्गत जनपद सिद्धार्थनगर के मदुआपुर, कलनाखोर सिद्धार्थनगर में ओ0डी0ओ0पी0 सी0एफ0सी0 का  बर्चुअल उद्घाटन मुख्यमंत्री उ0प्र0 योगी आदित्नाथ, द्वारा बर्चुअल किया गया। इस अवसर पर सांसद डुमरियागंज जगदम्बिका पाल, विधायक शोहरतगढ विनय वर्मा, मुख्य विकास अधिकारी जयेन्द्र कुमार की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर मुख्यमंत्री उ0प्र0 योगी आदित्यनाथ द्वारा सी.एफ.सी. के निदेशक अभिषेक सिंह से वार्ता की गयी। मुख्यमंत्री को सी.एफ.सी. के निदेशक ने बताया कि जनपद से काला नमक चावल की प्रजाति विलुप्त हो रही थी जिसका क्षेत्रफल अब बढ़ा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कालानमक चावल का पुराना इतिहास है। हमारे पूर्वज 2500 वर्ष पूर्व से इसकी खेती कर रहे है। सी.एफ.सी. के निदेशक ने बताया कि जनपद में 12 हजार हेक्टेयर में काला नमक चावल की खेती की जा रही है। 1100 किसान जुड़े है। हमे विदेशो से भी आर्डर मिल रहे है। काला नमक चावल का अच्छा मूल्य मिल रहा है। किसानो की आय बढ़ी है।मुख्यमंत्री ने बताया कि वर्तमान समय में काला नमक चावल सबसे अच्छा चावल है। छोटी साइज का चावल होने के के साथ साफ्ट भी है और न्यूट्रीशन की दृष्टि से सबसे अच्छा चावल है। सी.एफ.सी. के उद्घाटन के अवसर पर बधाई दी।ओ0डी0ओ0पी0 सी0एफ0सी0 का सांसद डुमरियागंज जगदम्बिका पाल, विधायक शोहरतगढ विनय वर्मा, मुख्य विकास अधिकारी जयेन्द्र कुमार द्वारा फीता काटकर विधिवत उद्घाटन किया गया तथा द्वीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। मुख्य विकास अधिकारी जयेन्द्र कुमार द्वारा सांसद डुमरियागंज जगदम्बिका पाल, विधायक शोहरतगढ विनय वर्मा को पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया गया। सांसद डुमरियागंज जगदम्बिका पाल ने कहा कि आज मुख्यमंत्री द्वारा ओ0डी0ओ0पी0 सी0एफ0सी0 का बर्चुअल उद्घाटन किया गया है। इसी तरह बर्डपुर तथा शोहरतगढ़ में बनने के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। पूरे जनपद में युवाओ के लिए माॅडल के रूप में सी.एफ.सी. विकसित होगी। सिद्धार्थनगर में काला नमक चावल की उपज मुख्यामंत्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में सरकार बनने के बाद विश्व में भी पहचान मिली है। काला नमक चावल महात्मा गौतम बुद्ध का प्रसाद है। उपायुक्त उद्योग दयाशंकर सरोज ने बताया कि वर्ष 2017 में जहां काला नमक धान का क्षेत्रफल 2000 हेक्टेयर था उसमें व्यापक वृद्धि हो कर क्षेत्रफल 12000 हेक्टेयर हो गया है एवं इसके मूल्य में व्यापक बढ़ोत्तरी हुई है। काला नमक चावल वर्तमान समय में आंनलाइन ई-कामर्स कम्पनी आंमेजन, फ्लिपकार्ट आदि पर उपलब्ध है। काला नमक चावल का निर्यात सिंगापुर एवं नेपाल आदि देशों में किया जा रहा है। एक जनपद एक उत्पाद योजनान्तर्गत काला नमक धान, चावल से जुड़े किसानो की समस्याओ के समाधान हेतु सामान्य जन सुविधा केन्द्र की स्थापना किया जाना है। इस अवसर पर स्वरोजगार संगम में मनीष कुमार कौशल, श्रीमती शिवकुमारी, श्रीमती मंजू चैरसिया को धनराशि रू0 10.00 लाख का ऋण दिया गया। मुख्य विकास अधिकारी जयेन्द्र कुमार द्वारा उपस्थित  जनप्रतिनिधिगण, अधिकारीगण तथा अन्य लोगो का धन्यवाद ज्ञापन किया गया। इस अवसर पर संयुक्त आयक्त उद्योग गोरखपुर, बस्ती मण्डल, उपकृषि निदेशक अरविन्द कुमार, जिला कृषि अधिकारी सी0पी0सिंह, जिला प्रबन्धक अग्रणी बैंक एस.बी.आई. रवि कुमार सिन्हा, कृषि विज्ञान केन्द्र सोहना ओम प्रकाश वर्मा, उपायुक्त उद्योग दयाशंकर सरोज तथा अन्य जनप्रतिनिधिगण, लाभार्थी आदि उपस्थित थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ