Subscribe Us

बाराबंकी : मौलाना "सना अब्बास ट्रस्ट" ने कैम्प लगाकर बुझाई राहगीरों की प्यास

   सगीर अमान उल्लाह

  बाराबंकी। मौलाना सना अब्बास ट्रस्ट ने सबील लगाकर बुझाई राहगीरों की प्यास। अयाज़ अहमद ने सना अब्बास ट्रस्ट द्वारा करबला सिविल लाइन द्वार भीषण गर्मी में राहगीरों की प्यास बुझाने हेतु किया सबील का आयोजन। कार्यक्रम में आये इमाम ए जुमा मस्जिद इमामिया सट्टी बाज़ार मौलाना मोहम्मद रज़ा साहब व इमाम ए जुमा मौथरी मौलाना सैयद मोहम्मद इब्ने अब्बास साहब ने भी लोगों को शर्बत पिलाकर बुझाई प्यास। ट्रस्ट के तमाम कार्यकर्ताओं ने सहयोग किया काफी संख्या में लोगों ने बिस्कुट व शर्बत देकर भीषण गर्मी में राहत की सांस ली।बताते चले मौलाना सना अब्बास अब दुनिया में नहीं है मगर आज भी उनकी यादें हम सभी के दिल में जिंदा है उन्होने दुनियां वालों को एक संदेश दे दिया संसार में आकर जितना दीन हासिल करो उसका पूरी ईमान दारी से इस्तेमाल करो क्या पता समय मौका दे न दे।इसलिए अपने कर्तव्य को पूरा करने में देर न करो। कामयाब इंसान वही होता है जो अपने कर्तव्यों को पूरा करने में देरी नहीं करता। भीषण गर्मी में जनता को ठंडा पानी पिलाना सबसे बड़ा सवाब का काम है।

   यह बात इमाम ए जुमा मौलाना मोहम्मद रज़ा ज़ैदपुरी ने कही। उन्होने यह भी कहा कि मरहूम सना अब्बास हमेशा गरीबो कमजोर बेसओ की हर तरह की मदद करते थे और मजहबी कामो में भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते थे। मौलाना ने यह भी बताया इस भीषण गर्मी में समाजसेवियों को आगे आकर इस तरह के काम करना चाहिये ताकि लोगो को किसी भी तरह की आसुविधा ना हो और लोगो को ठंठा पानी पिलाया जाये। मौलाना ने आगे कहा कि मरहूम मौलाना सना अब्बास ज़ैदी खुद समाजसेवी थे, गरीब मजलूमों  की बढ़ चढ़कर मदद करते थे, इसके अलावा मजहबी कामो में भी हिस्सा लेते थे। उन्होंने आगे कहा कि हर धर्म मे कहा गया है कि पानी पिलाना सबसे बड़ा पुण्य का काम और दिल को सुकून मिलता है। मौलाना इब्ने अब्बास ने बताया कि आज जरूरत है कि सभी धर्म के लोग आपस मे मिलकर इस नेक काम मे हिस्सा ले ताकि आपसी भाईचारा कायम रहे। मौलाना सना अब्बास ट्रस्ट के अध्यक्ष अयाज़ ज़ैदी ने कहा कि हम लोग जो भी काम करते है कर्बला के शहीदों की याद से शुरू करते है। स्व0 मौलाना सना अब्बास के मिशन को आगे बढ़ाने हेतु उन्होंने बताया कि जिस तरह मौलाना सना अब्बास अपनी जिन्दगी में गरीबो की मदद करना जैसे किसी गरीब की शिक्षा देना, किसी गरीब बेटियो की शादी कराना जैसे कई काम करते थे अब वो इस दुनिया मे नही है तो उनके कामो को आगे बढ़ाना हम लोगो का उद्देश्य है। जिसे मौलाना अदीब रिज़वी जैदपुरी अब पूरा करने की कोशिश करेंगे। 

इस मौके पर आमिर रज़ा, सैय्यद रईस अहमद, डाक्टर रज़ा मौरानवी , सारिब रज़ा मौरानवी , हसन सज्जाद ज़ैदी,अख्तियार हुसैन, शकील हैदर, हसन अब्बास (गुड्डू) उमेश श्रीवास्तव, समीर अब्बास ज़ैदी (शदाब) आरिज़ मेहदी ज़ैदी के अलावा ,, उमेर अहमद आदि तमाम लोग मौजूद रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ