Subscribe Us

अब महिला विद्यालय एवं बालिकाओें के स्कूलो के आस पास एन्टी रोमियो टीम होगी सक्रिय

भू माफियाओ एवं अपराधिक छवि के लोगो को चिहिन्त कर करे कड़ी कार्यवाही 

मण्डलायुक्त ने कानून व्यवस्था, राजस्व वसूली एवं शासन की प्राथमिकता वाले विकास योजनाओ के प्रगति की समीक्षा में अधिकारियो को दिया निर्देश

महेंद्र पांडे

मीरजापुर ! आयुक्त विन्ध्याचल मण्डल श्री योगेश्वर राम मिश्र ने आज आयुक्त कार्यालय सभागार में मण्डलीय अधिकारियो के साथ बैठक कर कानून व्यवस्था, राजस्व वसूली एवं शासन के विकास प्राथमिकता वाले विकास कार्यक्रमो की बिन्दुवार समीक्षा की। बैठक में उप पुलिस महानिरीक्षक श्री आर0के0 भरतद्वाज, जिलाधिकारी मीरजापुर श्री प्रवीण कुमार लक्षकार, जिलाधिकारी सोनभद्र श्री चन्द्र विजय सिंह, जिलाधिकारी भदोही श्रीमती आर्यका अखौरी, उप पुलिस महानिरीक्षक/पुलिस अधीक्षक मीरजापुर श्री अजय कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक सोनभद्र एवं भदोही, मुख्य विकास अधिकारी मीरजापुर श्रीलक्षमी वीएस एवं अलावा मुख्य विकास अधिकारी सोनभ्रद व भदोही व तीनो जनपदो के अपर जिलाधिकारी के अलावा सभी मण्डलीय अधिकारी उपस्थित रहें। समीक्षा में संयुक्त विकास आयुक्त श्री सुरेश चन्द्र मिश्र ने सभी कार्यक्रमो का बिन्दुवार रिपोर्ट मण्डलायुक्त को जानकारी दी गयी।

कानून व्यवस्था की समीक्षा में मण्डलायुक्त ने सभी सम्बन्धित अधिकारियो को निर्देशित करते हुये कहा कि स्कूल व कालेज खुल गये है अतएव छात्राओ व महिलाओ के सुरक्षा के दृष्टिगत बालिका स्कूल व कालेजो के आस पास एन्टी रोमियो की टीक को सक्रिय किया जाय तथा छीटाकशी व अभद्रता करने वालो के विस्द्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाय। उन्होने कहा कि आगामी 100 दिन के कार्य योजना बनाकर खन्न माफिया, भू माफिया, वन माफिया, शराब माफिया सहित अन्य अपराधिक किस्म के लोगो को चिहिन्त करते हुये तत्काल कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाय। उन्होने कहा कि किसी भी स्थिति में गरीब व झुग्गी, झोपड़ी वालो को अनावश्यक परेशान न किया जाय। मण्डलायुक्त ने कहा कि विकास खण्ड, तहसील, थानों सहित जिला मुख्यालयों के समस्त कार्यालयो में अधिकारी व कर्मचारी समय से उपस्थिति सुनिश्चित करते हुये आने वाली जन समस्याओ एवं विभागीय कार्यो को ससमय प्राथमिकता के आधार निस्तारण सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि वरिष्ठ अधिकारियो के द्वारा समय-समय पर अधिकारियो व कर्मचारियो की उपस्थिति का निरीक्षण किया जायेगा अनुपस्थित पाये जाने पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होने कहा कि जनपद सोनभद्र एवं मीरजापुर के तहसील मड़िहान व लालगंज में वन क्षेत्र पर कतिपय शिकायते प्राप्त होती रहती है। इसी प्रकार जनपद भदोही में जमीन को लेकर शिकायते मिल रही है ऐसे लोगो को चिहिन्त करते हुये तत्काल कड़ी कार्यवाही करते हुये वन क्षेत्रो में अवैध कब्जे तथा चक रोड, सरकारी नालियो, ग्राम समाज की जमीनो पर अवैध रूप से अतिक्रमण करने वालो के विरूद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही करते हुये जमीनो को खाली कराया जाय। 

उप पुलिस महानिरीक्षक ने कहा कि कार्यवाही बड़े माफियोओ पर की जाये  तथा टाप-10 माफियाओ को चिहिन्त कर उनके विरूद्ध अभियान चलाकर कार्यवाही की जाय।  उन्होने कहा कि कानून व्यवस्था एवं शान्ति व्यवस्था में खलल डालने वाले के विरूद्ध शक्ति से निपटा जाय।

राजस्व वसूली की समीक्षा के दौरान वाणिज्य कर एवं भू राजस्व मद में जनपद भदोही व सोनभद्र में माह मार्च में कम प्रगति पर मण्डलायुक्त ने कहा कि नये वित्तीय वर्ष समस्त अपर जिलाधिकारी अपने-अपने अधीनस्थो के साथ समन्वय स्थापित करते हुये रणनीति बनाकर शासन से प्राप्त लक्ष्य को माहवार लक्ष्य आवंटित करते हुये अभी से वसूली कार्य प्रारम्भ कर दे ताकि प्राप्त लक्ष्य को पूर्ण किया जा सके। मण्डलायुक्त ने कहा कि चकबन्दी के कार्यो में तेजी लाये तथा गाॅवो को प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण किया जाय। मण्डलायुक्त ने कहा कि 05 वर्ष से अधिक एवं 15 वर्ष से अधिक लम्बित वादो को विशेष प्राथमिकता देते अधिकारी सुनिश्चित करें। 05 वर्ष से अधिक लम्बित वाद जनपद मीरजापुर में 1240, भदोही में 1854 व सोनभद्र में 1290 वाद लम्बित है। इसी प्रकार 15 वर्ष से अधिक मीरजापुर में 09, भदोही में 01 तथा सोनभद्र में 02 वाद लम्बित हैं। मण्डलायुक्त ने कहा कि विशेष प्राथमिकता देते हुये वादो का निस्तारण सुनिश्ति कराये कराये। उन्होने कहा कि खन्न पट्टो का आवंटन नियमानुसार सुनिश्चित किया जाय। समीक्षा में बताया गया कि मीरजापुर में 148, भदोही में 01 व सोनभद्र में 71 खन्न पट्टो आवंटन शेष है। बैठक में अमृत योजना जलापूर्ति सीवर तथा पार्क की समीक्षा के साथ-साथ प्राप्त धनराशि के सापेक्ष व्यय प्रतिशत की भी समीक्षा की गयी तथा प्रगति लाने का निर्देश दिया गया। प्रधानमंत्री आवास शहरी के समीक्षा के दौरान बताया गया कि जनपद मीरजापुर में 118.62, भदोही में 96.90 व सानेभद्र में 96.86 प्रतिशत आवासो के निर्माण कार्य पूर्ण हैं। 

विकास योजनाओ की समीक्षा के दौरान मण्डलायुक्त ने कहा कि सभी मण्डलीय व जनपदीय अधिकारी अपने विभाग द्वारा संचालित योजनाओ का नियमित अनुश्रवण करे तथा सप्ताह में 03 दिन क्षेत्र में जाकर उसके वास्तविकता की स्थिति को भी देखे। मानव सम्पदा पोर्टल पर अधिकारियो कर्मचारियो की सेवा सम्बन्धी अद्यावधिक प्रवृष्टि भी समय से अंकित किया जाय तथा आई0जी0आर0एस0 एवं मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पोर्टल पर लम्बित प्रकरणो की साप्ताहिक/पाक्षिक समीक्षा करते हुये प्रकरणाो का गुणवत्ता सहित संतुष्ट कारक निस्तारण कराया जाय। उन्होने कहा कि जनपद में किये गये अच्छे कार्यो का अध्ययन कर उसका विवरण प्रस्तुत किया जाय ताकि उसकी डाक्यूमेनट्री तैयार करायी जा सके। मण्डलायुक्त ने कहा मा0 न्यायालयो में लम्बित प्रकरणो को गम्भीरता से लिया एवं शपथ पत्रो आदि दालिख कर दिया जाय। सिचाई विभाग एवं जल संशाधन में समीक्षा में कहा कि कृषको सही समय से उपलब्ध हो सके इसके लिये रजवाहा व नहरो की सफाई व नहरो का संचालन समय से कराया जाय। उन्होने कहा मनरेगा अन्तर्गत नहरो की सफाई एवं कार्यो का प्रस्ताव पहले से ही तैयार कर लिया जाय। विद्युत विभाग की समीक्षा में सरकारी विभागो के विद्युत बिल वसूली प्रतिशत जनपद मीरजापुर में 30.40, भदोही में 128.83 तथा सोनभद्र में 142.22 प्रतिशत हैं। मण्डलायुक्त ने कहा जनपद मीरजापुर में वसूली कम है विभागीय अधिकारी जिनका बिल बकाया हो अपने मुख्यालय से सम्पर्क कर बजट प्राप्त कर बिजली बिलो को जमा कराये। निवेश मित्र पोर्टल, झटपट पोर्टल, ऊर्जीकरण आदि की समीक्षा की गयी। बैठक में लोक निर्माण विभाग, सेतु निर्माण, कृषि विभाग, पशु पालन, चिकित्सा एवं स्वास्थ परिवार कल्याण आदि की समीक्षा की गयी। मण्डलायुक्त मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि अस्पतालो में चिकित्सको व दवाओ की उपलब्ध को बनाये रखा जाय। अस्पतालो का निरीक्षण किया जाय अनुपस्थित चिकित्सको के विरूद्ध कार्यवाही भी की जाय। परिवार नियोजन के अन्तर्गत पुरूष एवं महिला नसबन्दी में कम प्रगति पर बढ़ाने का निर्देश दिया गया। उन्होने वेलनेस सेंटरो को क्रियाशील करने तथा आयुष्मान भारत के तहत गोल्डन कार्ड  अभियान चलाकर बनाने का निर्देश दिया। स्वास्थ विभाग व आई0सी0डी0एस0 सहित अन्य विभागो के निर्माण कार्यो में गुणवत्ता लाने का निर्देश देते हुये आयुक्त ने कहा कि क्रय की जाने वाली सामाग्रियो का मूल्य भी सही लगाया  जाय जाचोपरान्त गलत पाये जाने पर सम्बन्धित के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। इस दौरान पंचायती राज विभाग, ग्राम्य विकास, मनरेगा, प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण, मुख्यमंत्री आवास ग्रामीण, मनेरगा, एन0आर0एल0एम0, जल निगम, खाद्य एवं रसद, समाज कल्याण, अल्पसंख्य, महिला कल्याण, बाल विकास पुष्टाहार, वन विभाग, दुग्ध, बेसिक शिक्षा, कौशल विकास, सूक्ष्म लघु मध्यम एवं उद्यम, श्रम विभाग, खाद्यी एवं ग्रामोद्योग तथा सहकारिता विभाग सहित अन्य विभागो की बिन्दुवार समीक्षा की गयी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ