Subscribe Us

वन अवध सेंटर में आयोजित हुआ सद्गुरू का ‘मिट्टी बचाओ आभियान’

 


मिट्टी को क्षरण से बचाने के उद्देश्य से मॉल में आयोजित हुआ तीन दिवसीय जागरुकता कार्यक्रम

लखनऊ। सद्गुरु द्वारा विश्व भर में मिट्टी बचाओ अभियान एक वैश्विक आंदोलन के रूप में चलाया जा रहा है। जिसके तहत राजधानी के वन अवध सेंटर मॉल में 15 अप्रैल से 17 अप्रैल तक तीन दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मॉल में मिट्टी बचाओ आंदोलन के बारे में लोगों में जागरूकता पैदा करने के साथ-साथ कई गतिविधियों जैसे कला प्रतियोगिता, बच्चों के लिए प्रश्नोत्तरी, नृत्य और संगीत प्रस्तुतियों, सेल्फी पॉइंट आदि की व्यवस्था की गई।

सद्गुरु मरुस्थलीकरण से निपटने के लिए संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन  के कार्यकारी सचिव, इब्राहिम थियाव के साथ बॉन में आयोजित कार्यक्रम में सम्मिलित हुए, जो कि उनकी 100 दिनों की मिट्टी बचाओ आंदोलन का हिस्सा है। सद्गुरू ने कहा कि "ज्यादातर सरकारें अभी भी मिट्टी को एक महत्वहीन पदार्थ मानती हैं । हमारे अंदर सबसे पहले यह चेतना होनी चाहिए कि हम मिट्टी से नहीं बल्कि जीवन-स्रोत से व्यवहार कर रहे हैं, मिट्टी हमारे जीवन का स्रोत है ना कि संसाधन।

100-दिवसीय यात्रा सद्गुरु के नेतृत्व में 25 देशों में 30,000 किलोमीटर की दूरी तय करेगी, जिसमें नीति निर्माताओं और जनता से मिट्टी के पुनर्जनन को प्राथमिकता देने का आह्वान किया जाएगा।

वन अवध सेंटर एग्जीक्यूटिव वॉयस प्रेसिडेंट सरस्वती सिंह ने कहा, “हम मिट्टी बचाओ अभियान का आयोजन हिस्सा बनकर बेहद सम्मानित और आभारी महसूस कर रहे हैं। मिट्टी के क्षय से खाद्य गुणवत्ता, आपूर्ति, जल सुरक्षा, जैव विविधता, कार्बन उत्सर्जन में वृद्धि और जलवायु संबंधी खतरे पैदा होते हैं। वृहद स्तर पर  इसके परिणामस्वरूप आजीविका के लिए संघर्ष और प्रवास आदि नुकसान होते हैं। अध्ययनों के अनुसार, अगले 60 वर्षों में भूमि का पूरी तरह क्षरण हो जाएगा। इसलिए अब कार्य करने का समय आ चुका है। मैं सभी से इस आंदोलन का हिस्सा बनने का आग्रह करती हूं ताकि मिट्टी को बचाया जा सके।"

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ