Subscribe Us

बच्चो को प्रेरित करने वाला कार्यक्रम स्कूल चलो अभियान का हुआ शुभारंभ

   मोहम्मद रईस (सत्य स्वरूप)

  सिरौली गौसपुर, बाराबंकी। स्कूल चलो अभियान उत्तर प्रदेश सरकार का बच्चों को प्रेरित करने वाला बड़ा कार्यक्रम है। इसके तहत आज कंपोजिट विद्यालय किंतूर, प्राथमिक विद्यालय किंतूर प्रथम एवं द्वितीय नया शैक्षिक सत्र प्रारंभ होते ही गांव-गांव जाकर बच्चों के साथ उनके अभिभावकों को शिक्षा का महत्व बताने के साथ स्कूल जाने के लिए प्रेरित किया गया।

 कंपोजिट विद्यालय एवं प्राइमरी बेसिक स्कूल के शिक्षक रैली निकालने के साथ गांव के हर घर तक पहुंचने का लक्ष्य लेकर निकलते हैं। 

अभियान में शिक्षक घर-घर जाकर बच्चों को स्कूलों में प्रवेश दिलाने और स्कूल भेजने के लिए प्रेरित करते है। इस अभियान में सबसे ज्यादा एडमिशन करवाने वाले प्रधानाध्यापक को भी सम्मानित किया जाएगा।

बच्चों के घर में बैठने से कोई लाभ नहीं है इस अभियान के तहत ग्रामीणों को बताया जाता है कि सरकार मुफ्त में शिक्षा देने के साथ ही दो जोड़ी स्कूल यूनिफार्म, स्वेटर तथा जूता-मोजा देती है। इनको मिड डे मील के बारे में भी बताया गया है। इनको जानकारी दी जाती है कि बच्चों के घर में बैठने से कोई लाभ नहीं है, बल्कि बच्चों के पढऩे-लिखने में बहुत लाभ हैं।

 सत्र 2022-23 में सौ प्रतिशत एडमिशन का लक्ष्य रखा गया है। योगी आदित्यनाथ सरकार का नए शैक्षिक सत्र 2022-23 में सौ प्रतिशत एडमिशन का लक्ष्य है। बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से संचालित स्कूलों में दो करोड़ बच्चों का नामांकन कराने के लिए स्कूल चलो अभियान शुरू हो गया है।इस अवसर पर राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के ब्लॉक अध्यक्ष सौरभ दीक्षित, प्रभारी अध्यापक उदय प्रताप सिंह,प्रधान प्रतिनिधि अकरम अंसारी,आशुतोष मिश्रा, अनुभव,उमाशंकर, प्रेमचंद आदि शिक्षक उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ