Subscribe Us

लोकल फॉर वोकल हेतु सीएसए एवं अल्टरनेटिव फार्मटेक में हुआ समझौता

    अनवर अशरफ 

 कानपुर। चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कानपुर के कुलपति डॉक्टर डीआर सिंह एवं कानपुर स्थित अल्टरनेटिव फार्मटेक प्राइवेट लिमिटेड ने  मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने के लिए समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं। इस अवसर पर कुलपति ने बताया कि ये कृषि यंत्र पर्यावरण अनुकूल एवं किसानों हेतु सस्ते दरों पर कंपनी द्वारा उपलब्ध होंगे। उन्होंने बताया कि लोकल फ़ॉर वोकल का उद्देश्य है कि देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करना और आत्मनिर्भर बनाना है। इस एमओयू से छोटे जोत वाले किसानों को छोटी उपयोगी मशीनें पहुंच में हों।जो कम लागत में ज्यादा कृषि कार्य संपादित कर सकें  और किसानों की आमदनी में बढ़ोतरी हो। विश्वविद्यालय के निदेशक शोध डॉक्टर करम हुसैन ने बताया कि कंपनी द्वारा विकसित कृषि यंत्रों का पुनरीक्षण सत्यापन और वैधीकरण विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों द्वारा किया जाएगा तथा यंत्रों की गुणवत्ता व कार्य दक्षता को और बढ़ावा देने के लिए कंपनी को समय-समय पर सुझाव दिए जाएंगे। जिससे ये कृषि यंत्र किसानों हेतु और अधिक उपयोगी सिद्ध हो। कंपनी के निदेशक अनंत चतुर्वेदी ने बताया कि स्टार्टअप की शुरुआत 4 वर्ष पूर्व की थी।उन्होंने बताया कि हमारी कंपनी में आईआईटी और आईआईएम के शिक्षित युवाओं की टीम है जो छोटे किसानों हेतु कृषि यंत्रों पर आविष्कार कर रहे हैं।यह कृषि यंत्र सोलर एवं बैटरी चालित है जैसे मल्टी क्रॉप थ्रेशर, ब्रश कटर एवं वीडर के अतिरिक्त अन्य कृषि यंत्र भी हैं जो किसानों को कम लागत में अधिक लाभ पहुंचाएंगे। उन्होंने कहा कि ब्रश कटर (रीपर) द्वारा एक व्यक्ति 6 से 8 घंटे में 1 एकड़ गेहूं की कटाई कर लेता है।चतुर्वेदी ने कहा कि विश्वविद्यालय के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर हमारे लिए गौरव की बात है। और कृषि वैज्ञानिकों के सुझाव से कंपनी औसत एवं छोटे जोत वाले किसानों हेतु कृषि यंत्र विकसित कर सकेगी। इस अवसर पर निदेशक प्रसार/ समन्वयक डॉ ए के सिंह,निदेशक प्रशासन एवं मॉनिटरिंग डॉक्टर वाईपी मलिक तथा संपत्ति एवं प्रशासनिक अधिकारी मानवेंद्र सिंह सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ