Subscribe Us

शिक्षा क्रांति में हर वर्ग का योगदान अपेक्षित : दयाराम तिवारी

 


----बेसहारा बच्चों को निःशुल्क गुणवत्तापूर्ण शिक्षा

सूरत। एनजीओ पीडब्ल्यूएस द्वारा जन सहयोग से शिक्षालय निर्माण हेतु चलाये जा रहे अभियान के दौरान भगवती हिंदी विद्यालय, पांडेसरा, सूरत (गुजरात) में आयोजित कार्यक्रम में वरिष्ठ समाजसेवी व विद्यालय संचालक दयाराम तिवारी ने प्रत्येक बेसहारा बच्चे को निःशुल्क गुणवत्तापूर्ण शिक्षा में योगदान हेतु हर वर्ग का  आह्वान किया।

    जानकारी के अनुसार गुजरात के सूरत महानगर स्थित भगवती हिंदी विद्यालय पांडेसरा में पीडब्ल्यूएस प्रमुख आर के पाण्डेय एडवोकेट की उपस्थिति व आशीष दयाराम तिवारी की अध्यक्षता में आयोजित भव्य कार्यक्रम में उपस्थिति समाज के विभिन्न वर्ग के गणमान्य समाजसेवियों व विद्यालय परिवार ने पीडब्ल्यूएस प्रमुख आर के पाण्डेय का भव्य स्वागत किया। इस कार्यक्रम में आर के पाण्डेय एडवोकेट ने एनजीओ परमेंदु वेलफेयर सोसाइटी (पीडब्ल्यूएस परिवार) के विभिन्न कार्य योजना व निर्धन बेसहारा बच्चों को पूर्णतया निःशुल्क गुणवत्तापूर्ण शिक्षा हेतु 1 ईंट 1 ₹ व सामर्थ्य एवं आस्थानुसार यथोचित समुचित योगदान से श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या परिक्षेत्र के गोरसरा शुक्ल में निर्माणाधीन परमेंदु शिक्षा सदन परम शक्ति धाम के संदर्भ में विस्तार से चर्चा करते हुए समाज से सहयोग का आह्वान किया। कार्यक्रम में गुजरात प्रदेश अध्यक्ष नागेन्द्र प्रसाद पाण्डेय राजू, दयाराम तिवारी, विनोद कुमार आर तिवारी, रमेश तिवारी मास्टर, राजनाथ मिश्र आदि वरिष्ठ समाजसेवियों ने अपने विचार रखते हुए लोगों को इस पीडब्ल्यूएस शिक्षालय में योगदान करने हेतु प्रेरित किया। कार्यक्रम के दौरान आशीष दयाराम तिवारी को संगठन द्वारा सम्मान पत्र, पत्रिका व अंगवस्त्र भेंटकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर गुजरात प्रदेश अध्यक्ष नागेन्द्र प्रसाद पाण्डेय राजू, संजय महाराज नन्दगांवकर, विनोद कुमार आर तिवारी, रमेश तिवारी मास्टर, अवधेश सिंह, राजनाथ मिश्र, पंकज मिश्र, विकास मिश्र, संजय सिंह, अमित सिंह, सुरेंद्र यादव, अनुराग यादव, हेमराज कुशवाहा, शीतल  मोरिया, संजय शुक्ला, राजाराम तिवारी, अरविंद दुबे, रामकरण विश्वकर्मा, ओम प्रकाश दुबे, सुनील दुबे, सुशील शुक्ला, महेश पाल, आर बी पाल मीडिया प्रभारी सहित एनजीओ पीडब्ल्यूएस परिवार से जुड़े सम्मानित सदस्य सहित गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ