Subscribe Us

बिजली विभाग के अवर अभियंता की दहशत से दलित और अल्पसंख्यक परेशान, एफ आई आर के नाम पर वसूली का खेल जोरों पर

   संवाददाता

  मिर्जापुर। विंध्याचल क्षेत्र के बिजली विभाग का अवर अभियंता इन दिनों दलितों अल्पसंख्यकों के ऊपर कहर बनकर बरफ रहा है! विद्युत चेकिंग के नाम पर जहां जेई द्वारा विद्युत कनेक्शन को विच्छेद किया जा रहा है, फिर अवैध वसूली गैंग निकलकर लाइन जोड़ने के नाम पर सौदेबाजी शुरू किया जाता है! साहब को मनाने और विद्युत चोरी के नाम पर एफ आई आर ना हो इस पर मोटी रकम वसूली जाती है! जहां उपभोक्ता और आम नागरिक अवर अभियंता के कारनामों से त्रस्त है! वही सत्ता के गलियारों से मिल रहा वरदहस्त से बेखौफ जेई एंड का वसूली गैंग पूरे विंध्याचल में नग्न तांडव कर रहा है! रमजान के पवित्र महीने में अल्पसंख्यकों को टारगेट करके उनके कनेक्शनों को धड़ल्ले से काटने का काम किया जा रहा है! वही अल्पसंख्यक बिरादरी के लोगों को जातिसूचक शब्दों के साथ संबोधन और बिजली चोरी की एफ आई आर दर्ज कराने के नाम पर बड़े पैमाने पर वसूली का मामला सामने आ रहा है! विंध्याचल की महिला सभासद के प्रति पर विद्युत चोरी का एफ आई आर दर्ज, फिर पूर्व पार्षद और पंडा समाज के पूर्व मंत्री के आवास पर 4:00 बजे सुबह पुलिस बल के साथ जेई की टीम विद्युत चेकिंग के नाम पर घर में प्रवेश कर जाती है, सूत्रों की माने तो पूर्व पार्षद के पिता हार्ट के पेशेंट है, उनको प्रताड़ित करने के बाद घर की महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार की बात सामने आ रही है। कुछ लोग जेई के द्वारा प्रताड़ित करने पर न्यायालय की शरण में भी गए हैं। तमाम लोग विभाग के मंत्री और बिजली विभाग की उच्च अधिकारियों को अपनी वेदना से अवगत करा रहे हैं। जबकि क्षेत्र में कई ऐसे होटल और गेस्ट हाउस है जहां दर्जनों एसी स्थापित किए गए हैं। अवर अभियंता के कारनामों से सरकार की किरकिरी हो रही है, लोग बाग यही कह रहे हैं, यही दिन देखने के लिए हम लोगों ने सरकार बनने में मदद किया था! अल्पसंख्यकों को चेकिंग के नाम पर उनके घरों में घुस जाना, दलितों को जातिसूचक शब्दों से नवाजना साहब के आदतों में शुमार हो गया है। चर्चा है कि सत्तासीन लोगों के द्वारा, अवर अभियंता को संरक्षण दिया जा रहा है, राजनीतिक द्वेष भावना से कई लोगों के घरों में पुलिस बल के साथ अवर अभियंता चेकिंग के नाम पर घरों में प्रवेश कर जा रहा है। बेखौफ अंदाज में अवर अभियंता के कार्यशैली से विंध्याचल की जनता त्रस्त है। लोग निराश और हताश अदालत की शरण में जा रहे हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ