Subscribe Us

बैंक ऑफ इंडिया के अधिकारियों व कर्मचारियों की मनमानी चरम सीमा पर

अली अहमद

बाराबंकी। जनपद के अंतर्गत बैंक ऑफ इंडिया शाखा जियनपुर नई सड़क में अधिकारियों से लेकर कर्मचारियों की मनमानी चरम सीमा पर। बैंक ऑफ इंडिया शाखा जियनपुर के अधिकारियों से लेकर कर्मचारियों के आखिरकार इतने हौसले बुलंद क्यों?

   आपको बताते चलें की पूरा मामला बैंक ऑफ इंडिया शाखा जियनपुर नई सड़क का है यहां के खाताधारकों का आरोप है कि अपने खाते में मोबाइल नंबर लगवाना हो चाहे आधार कार्ड लिंक करवाना हो यह फिर एटीएम जारी कराना हो य चेक बुक जारी करवाने के लिए मानो किसी परिक्रमा से कम नहीं खाताधारकों के द्वारा बैंक के चक्कर लगाने को मजबूर  हैं लेकिन न तो उनके खाते में मोबाइल नंबर लगता है और न ही आधार कार्ड लिंक होता है और न ही एटीएम व चेक जारी किया जाता है ।खाताधारकों के द्वारा जब बैंक कर्मियों से पूछा जाता है तो बैंक के कर्मचारियों द्वारा उससे अभद्र व्यवहार करने से बाज नहीं आते न ही कोई स्पष्ट जवाब दिया जाता है जिससे खाताधारकों में भारी आक्रोश है इतना ही नहीं यह कोई आज पहला मामला नहीं है इससे पहले भी बैंक ऑफ इंडिया शाखा जियनपुर आए दिन अखबार की सुर्खियों में बना रहता है आज दिनांक 30/4 /2022 शनिवार को सुबह ठीक दस बजे बैंक खुलने के बाद लाइट कट जाने के बाद जनरेटर में तेल न होने के कारण लगभग तीस मिनट तक बैंक का कार्य बाधित रहा जिससे दूर दराज से आए हुए खाताधारकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा यही अगर समय रहते हुए बैंक कर्मियों के द्वारा तेल चेक कर लिया जाता तो शायद खाताधारकों को इस परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता । लेकिन यह तो वही कहावत हो गई सैंया भए कोतवाल अब डर काहे का। शिकायतकर्ता मोहम्मद वैश व मोहम्मद शकील ने शिकायती पत्र देते हुए यह आरोप लगाया है की लगभग एक माह पूर्व हमने एटीएम का फार्म भरकर बैंक में जमा किया था लेकिन अभी तक न ही मेरा एटीएम आया और न ही बैंक कर्मियों द्वारा कुछ स्पष्ट बताया जाता है तो वहीं पर मोहम्मद जावेद ने शिकायती पत्र देते हुए आरोप लगाया है कि लगभग पांच बार मैंने अपने डाक्यूमेंट्स फोटो कॉपी करवा कर बैंक में जमा किए हैं लेकिन अभी तक न ही मेरे खाते में मोबाइल नंबर लगाया गया और न ही आधार कार्ड लगाया गया कई खाताधारकों ने तो यह भी बताया कि 6 माह पहले फार्म भर के जमा कराया गया था लेकिन लोगों के अभी तक खाते तक नहीं खोले गए। इतना ही नहीं लोगों ने यह भी बताया की इस बैंक में हमेशा आए दिन प्रिंटर खराब रहता है जब खाता धारक पासबुक इंट्री कराने के लिए जाते हैं तो यह कहकर वापस कर दिया जाता है कि अभी प्रिंटर खराब है कुछ लोगों ने यह भी बताया कि  लगभग 6 माह पूर्व हम लोगों के खाते खुल गए हैं लेकिन अभी तक पासबुक प्रिंट हो करके नहीं मिली है लोग बैंक के चक्कर लगा लगा कर परेशान हैं। इस संबंध में शाखा प्रबंधक बताया कि कुछ समय से प्रिंटर की दिक्कत चल रही है और जनरेटर में तेल खत्म हो गया था फौरन मंगवा कर तेल डाल कर जनरेटर को स्टार्ट कर कार्य चालू किया गया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ