Subscribe Us

घोटाला : 120 फिट की जगह 60 फिट पर ही किया इंडिया मार्का हैंडपंप का रिबोर,40 फीट पर बांधी गई पाइप


ग्रामीणों ने लगाया अधिकारियो और ठेकेदार पर भ्रष्टाचार का आरोप

पुरवा। विकासखंड पुरवा के अंतर्गत ग्राम पंचायतों में जो जो इंडिया मार्का पाइप रीबोर के लिए डाले गए उनमें बड़ा घपला देखने को मिला अगर ग्रामीणों की माने तो जहां 120 से 140 फीट बोर होना चाहिए वही मौजूदा ठेकेदारी और अधिकारियों की मिलीभगत प्रधानों के साथ 60 फुट पर ही बोरिंग करके 40 फीट पर पाइप बांधी गई जिससे उस इंडिया मारका पाइप में कभी भी साफ पानी नहीं आता है।  अगर जानकारों की माने तो 60 से 80 फिट तक उन्नाव की बोरिंग में पानी में फ्लोराइड की मात्रा अधिक पाई जाती है  जिससे कई बीमारियां होने की संभावना रहती है अधिक फ्लोराइड होने के कारण गर्दन पीठ कंधे और घुटनों के जोड़ों में दर्द बना रहता है और स्मरण शक्ति भी कमजोर होती है और बांझपन की भी समस्याएं अधिक होने का आसार रहते हैं।

पुरवा ब्लाक के अंतर्गत ग्राम पंचायत त्रिपुरारीपुर में कई बोर हुए हैं उनमें से अधिकतर रिबोर मैं गंदा पानी ही आता है प्राइमरी पाठशाला में जहां छोटे-छोटे बच्चे पानी पीते हैं वहां प्रधानाचार्य शोभनाथ वर्मा ने बताया कि अगर चार पांच बच्चे एक साथ पानी पीने के लिए आ जाते हैं तो पानी में बालू आ जाती है वही सोसाइटी में लगे इंडिया मारका पाइप में ग्रामीणों ने बताया कि वह भी गंदा पानी देता है संजय त्रिपाठी के दरवाजे पर इंडिया मार्क का पाइप लगा हुआ भी गंदा पानी देता है वही ग्रामीणों ने बताया कि कई बार ग्राम विकास अधिकारी से शिकायत की गई लेकिन ग्राम विकास अधिकारी ने इस पर ध्यान नहीं दिया आखिर ध्यान जाए भी क्यों जब सैंया भए कोतवाल तो डर काहे का इसी कहावत को चरितार्थ करते हुए पुरवा ब्लाक के अधिकतर गांव में जहां पर रिबोर हुए हैं वहां पर 60 फिट पर ही रिबोर करके के पल्ला झाड़ लिया गया है आखिर इतनी चरम तक भ्रष्टाचार हुआ कैसे क्या कोई  इसकी जांच नहीं करता है क्या एडीओ पंचायत की निगरानी में रीबोर नहीं होते हैं क्या खंड विकास अधिकारी ने कभी इसकी जांच नहीं करवाई है।

क्या बोले जिम्मेदार

एडीओ पंचायत का कार्यभार देख रहे अशोक भारती से जब रीबोर  के बारे में बात की गई तो उन्होंने कहा कि अभी रास्ते में है बात नहीं हो सकती।


खंड विकास अधिकारी पुरवा ने कहा इसकी जल्द से जांच करवाई जाएगी और जो भी दोषी होगा उसको सजा दी जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ