Subscribe Us

10 घंटे बाद मिला नदी में डूबे अजीम का शव

  बिजनौर। हर साल खो बैराज पर गर्मी के दिनों में अक्सर नव युवकों के डूबने की अप्रिय घटनाएं घटित होते हैं l गर्मी से बचने के लिए नई उम्र के लड़के घरवालों से छुपते छुपाते खो बैराज पर नहाने पहुंच जाते हैं और वहां पानी के तेज बहाव या गहरे गड्ढे होने की वजह से हादसे का शिकार हो जाते हैं l

          मोहम्मद अजीज 18 वर्षीय पुत्र हनीफ अहमद मोहल्ला निकम्मा शाह शेरकोट निवासी गर्मी से बचने के लिए घरवालों से छुपकर दोपहर स्थानीय खो बैराज में नहाने चला गया l वहां बड़ी नदी में नदी को पार करने की बच्चों में होड़ लग गई इसी बीच में अजीम गहरे पानी पहुंच गया वहां उसे डूबता देख उसके साथी भाग खड़े हुए घबराहट में किसी को नहीं बताया लेकिन जो आसपास नहाने वाले थे जब उनकी नजर पड़ी तो उन्होंने उसे डूबने से बचाने का प्रयास किया लेकिन वह सफल नहीं हो सके और उसकी डेड बॉडी पानी में समा गई थाना इंचार्ज मनोज परमार एसआई बाबूराम गौतम टीम के साथ मौके पर पहुंचे वहां गोताखोरों को बुलवाया तमाम गोताखोर ढूंढने का प्रयास मैं लगे तब कहीं जाकर रात को 10:00 बजे अजीम का शव निकाला जा सका घर वालों का रो रो कर बुरा हाल है l आसपास गमगीन माहौल है l इंजीनियर अब्दुल्लाह कुरेशी, अनीस अहमद व जावेद फ्रूट मर्चेंट, मेंबर शाहरुन, काजी शमीम अहमद, हाजी हाजी बलन खान, साजिद अली आदि ने पुलिस प्रशासन से मांग की है l कि खो बैराज पर पुलिस की सख्त ड्यूटी लगाई जाए l ताकि नए नए बच्चे खो नदी में ना नहाए उधर विद्युत विभाग से भी गुहार लगाई है l कि यह भीषण गर्मी में विद्युत सप्लाई में बेतहाशा कटौती ना करें l इसकी वजह से गर्मी में छोटे बड़े सभी व्याकुल हो जाते हैं l दूसरे घरों में पानी की सप्लाई ना आने की वजह से है l गर्मी से बचने के लिए खो नदी की तरफ नहाने को भागते हैं l अक्सर इसी वजह से यहां हादसे होते रहते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ