Subscribe Us

बाराबंकी : रामऔतार हत्याकाण्ड का पुलिस ने किया सनसनीखेज खुलासा, आलाकत्ल व घटना में प्रयुक्त मोटर साइकिल बरामद

   जावेद शाकिब सत्य स्वरूप

     बाराबंकी। कहते है कि लालच बुरी बला है। ये कहावत आज बिल्कुल सही साबित हुई। पैसों की लालच में आकर दो दोस्तों ने मिलकर एक निर्दोष की गाला रेतकर हत्या कर दी। मृतक के पास मिले रुपये लेकर दोनों ने उसे आपस मे बाँट लिया। फिर लाश ठिकाने लगाकर वहाँ से फरार हो गए।
   बहेलिया का पुरवा मजरे पिण्डारा थाना शिवरतनगंज जनपद अमेठी निवासी रामऔतार के बड़े भाई रामकेवल रावत पुत्र खुशीराम रावत ने थाना हैदरगढ़ पर तहरीर दी कि बीते 8 मार्च को मेरे छोटे भाई रामऔतार रावत को गांव के ही वीर बहादुर सिंह पुत्र चन्द्रभूषण सिंह की ट्रैक्टर ट्राली पर मिट्टी भरने के लिए वारिस पुत्र यार मोहम्मद घर से बुलाकर ले गया था। ट्रैक्टर ट्राली पर मेरे भाई के साथ सूरज गौतम पुत्र प्रेमदास व सूरज यादव पुत्र लाल बहादुर यादव भी थे। ये दोनों लोग भी मेरे भाई के साथ मिट्टी भरने का काम करते थे। जब शाम को मेरा भाई घर वापस नहीं आया तो वारिस के घर जाकर पूछने पर बताया कि उसे कोई जानकारी नही है। मैंने अपने भाई के बारे में अपनी रिश्तेदारी व आस-पड़ोस से पूछा तो कोई जानकारी नही मिली। 12 मार्च को जानकारी मिली कि मेरे भाई की लाश थाना हैदरगढ़ क्षेत्र के ग्राम भिखरा के पास बाग में मिली है। मुझे विश्वास है कि मेरे भाई की हत्या सूरज यादव व अर्जुन ने की है, इस तहरीर के आधार पर थाना हैदरगढ़ पर हत्या की धारा 302/201 एससी/एसटी एक्ट में मुक़दमा पंजीकृत किया गया।
           घटना से सम्बन्धित अभियुक्तों की गिरफ्तारी के आदेश पर थाना हैदरगढ़ पुलिस टीम द्वारा आज मैनुअल इन्टेलीजेन्स व वैज्ञानिक साक्ष्यों के आधार पर अभियुक्तगण  सूरज यादव पुत्र लालबहादुर यादव अर्जुन यादव पुत्र रामू यादव निवासीगण पूरे शुक्लन पुरवा मजरे पिडरिया थाना शिवरतनगंज जनपद अमेठी को चौबीसी तिराहा से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्तगण के कब्जे से एक अदद तमंचा मय एक अदद कारतूस, आलाकत्ल एक अदद छूरी, मृतक का पर्स, घटना में प्रयुक्त एक अदद मोटर साइकिल यूपी 41 ई 8776 व लूट के 2970/-रुपये नकद बरामद किया गया। अभियुक्तगण के विरुद्ध थाना हैदरगढ़ पर धारा 3/25 आर्म्स एक्ट पंजीकृत किया गया।
                 पूछताछ में अभियुक्तगण ने बताया कि हम दोनों मिलकर 8 मार्च को रुपयों की लालच में मृतक रामऔतार की छूरी से गला रेतकर हत्या कर दी थी। मृतक के पास से कुल 4200/-रुपये मिले थे जिसको हम दोनों ने आपस में बांट लिए थे। मुकदमा उपरोक्त में धारा 394/411 भादवि की बढ़ोत्तरी की गयी। पुलिस ने दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया है
आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक श्री बृजेश कुमार वर्मा, उ0नि0 श्री राधेश्याम यादव, हे0का0 प्रदीप मिश्रा, हे0का0 फूलचन्द,का0 प्रान्सू कटियार शामिल रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ