Subscribe Us

श्रमिक एवं शोषित वर्गों के उत्थान के लिये निरंतर कार्य करेगी सर्वहारा विकास पार्टी

 


केन्द्रीय कार्यालय में आयोजित हुआ पार्टी का प्रथम अधिवेशन

सत्य स्वरूप संवाददाता

लखनऊ। समता मूलक समाज के निर्माण में विश्वास रखते हुये सर्वहारा विकास पार्टी समान अवसर के सिद्धांत को अपनाकर शोषित, वंचित, श्रमिक, अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जन जातियों, अल्पसंख्यकों, पिछड़े वर्गों, महिलाओं एवं युवाओं के लिए विशेष अवसर उपलब्ध कराने के लिये न सिर्फ दृढ़ संकल्पित रहेगी बल्कि खासकर श्रमिक  एवं  शोषित वर्गों के उत्थान के लिए निरंतर कार्य करेगी और उन्हें सामाजिक विकास की मुख्यधारा में जोडऩे के लिए प्रतिबद्ध रहेगी। आज यहां गोमतीनगर विस्तार स्थित पार्टी के केन्द्रीय कार्यालय में पार्टी के हुये प्रथम अधिवेशन को सम्बोधित करते हुये राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ.एम. डी. कर्णधार ने बताया कि सर्वहारा वर्ग मानव इतिहास में सबसे महान एवं विशाल है, विचारधारा, राजनीति और सांस्कृतिक विरासत की दृष्टि से इसे क्रांतिकारी वर्ग कहना कोई अतिश्योक्ति नही होगी। परन्तु आज यह दिन के उजाले की तरह स्पष्ट है कि वर्तमान राजनितिक परिदृश्य में इसकी स्थिति किसी से छिपी नही है और यह महान वर्ग आज भी शोषण का शिकार है जबकि इस वर्ग के पास देश की दिशा एवं दशा बदलने कि एक जबरदस्त क्षमता एवं प्रेरक शक्ति है। इस वर्ग को पुनस्र्थापित करने, उसके राजनितिक एवं सामाजिक अधिकारों को वापस दिलाने हेतु सर्वहारा विकास पार्टी दृढ़ता पूर्वक आगे बढ़ती रहेगी। श्री कर्णधार ने बताया कि सर्वहारा विकास पार्टी का ये अनुभव है कि कुछ राजनीतिक दलों ने समाज के सर्वाधिक पिछड़े वर्गों, जिसमे उत्तर प्रदेश का मछुआ समुदाय की गणना प्रमुखता से की जाती है, को मात्र अपना वोट बैंक मानकर उनके हितो के साथ सौदेबाजी कर अपना हित साधा गया, पार्टी का चिंतन है कि इस दुव्र्यवस्था, छल व प्रपंच से इन वर्गों को मुक्त कराकर इन वर्गों के हितो की रक्षा हेतु स्वच्छ मन, निष्पक्ष भाव व पूर्ण ईमानदारी के साथ जमींन पर उतरकर संघर्ष किया जाये। अधिवेशन में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव शिव प्रसाद साहनी, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष ब्रजेश कुमार, राष्ट्रीय प्रवक्ता मृतुन्जय साहनी तथा सभी संस्थापक सदस्य व विशिष्ट अतिथि मौजूद थे। अधिवेशन में लिये गये निर्णयों के बारे में राष्ट्रीय प्रवक्ता मृतुन्जय साहनी ने बताया कि अधिवेशन में प्रमुख रूप से पार्टी के संगठन विस्तार व वृहद स्तर पर सदस्यता अभियान चलाये जाने की कार्ययोजना तैयार की गयी। अधिवेशन में उपस्थित सभी सम्मानित संस्थापक सदस्यों, आमंत्रित विशिष्ठ अतिथियों ने पार्टी का जनाधार बढ़ाये जाने हेतु अपने बहुमूल्य विचार प्रस्तुत किये। इसके अलावा आगामी लोकसभा निर्वाचन 2024, विधानसभा चुनाव 2027 को द्रष्टिगत रखते हुए भावी रणनीति पर चर्चा की गयी एवम पार्टी ने यह भी निर्णय किया कि उपरोक्त सभी निर्वाचन की प्रक्रियाओं में पार्टी हिस्सा लेगी और उत्तरप्रदेश में अपने प्रत्याशियों को चुनाव मैदान में उतारेगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ