Subscribe Us

बाराबंकी : पैतृक जमीन में हिस्सा न मिलने पर महिला मित्र संग मिलकर बड़े भाई ने की थी छोटे भाई की हत्या

पुलिस ने हत्या का खुलासा कर महिला व भाई को किया गिरफ्तार

जावेद शाकिब सत्य स्वरूप
             
     बाराबंकी।
पैतृक जमीन में हिस्सा न मिलने पर बड़े भाई व किसान नेता ने महिला मित्र के साथ अपने छोटे भाई की हत्या की घिनौनी साजिश रच डाली। पहले तो उसने धोखे से अपने छोटे भाई को महिला मित्र के जरिये घटना स्थल पर बुलाया और फिर गोली मारकर हत्या कर दी। पहले तो आरोपी ने पुलिस को गुमराह करने की पूरी कोशिश की लेकिन बाद में  पुलिस ने पड़ताल के जरिए घटना का खुलासा कर दोनो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।
      देवा थानांतर्गत सरैयां मजरे सलापुर निवासी रामचन्दर के तीन बेटे थे। बड़े पुत्र सुनील यादव को पैतृक जमीन में हिस्सा नही मिला था। मृतक वीरेन्द्र यादव ने अपने व अपने छोटे भाई नरेंद कुमार यादव के नाम तीन तीन बीघा जमीन का बैनामा करवा लिया ठेस बात से सुनील नाराज था। और भाई से उसका विवाद चल रहा था तथा इस विवाद का मुकदमा मा0 न्यायालय बाराबंकी में विचाराधीन है।
   पुलिस के अनुसार  24 मार्च को नारेन्द्र कुमार यादव पुत्र रामचन्दर ने देवा थाने पर तहरीर दी कि उसका भाई वीरेन्द्र यादव दिनांक 23 मार्च को शाम करीब 04 बजे मोटरसाइकिल से रीवारतनपुर जाने के लिए कहकर घर से गया था, रात्रि करीब 09.20 बजे मुझे पता चला कि मेरे भाई वीरेन्द्र यादव को नुमाइश मैदान देवां में किसी ने गोली मार दी है जिससे उसकी मृत्यु हो गई है। इस सूचना के आधार पर थाना देवा पर मु0अ0सं0 116/2022 धारा 302 भादवि बनाम अज्ञात पंजीकृत किया गया ।
  एसपी अनुराग वत्स ने घटना से सम्बन्धित साक्ष्यों को एकत्रित कर हत्या में संलिप्त अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीमों का गठन किया गया था। घटना स्थल का फोरेंसिक टीम व डॉग स्क्वाड टीम द्वारा निरीक्षण कर मौके से वैज्ञानिक साक्ष्य एकत्रित किया गया। गठित पुलिस टीमों द्वारा डिजिटल एवं मैनुअल इंटेलीजेंस के आधार पर अथक प्रयास करते हुए विभिन्न साक्ष्यों के आधार पर आज हत्या की घटना में संलिप्त आरोपी सुनील यादव व रेखा वर्मा पत्नी पवन कुमार निवासिनी शांति विहार कालोनी थाना कोतवाली नगर जनपद बाराबंकी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी सुनील यादव के कब्जे से घटना में प्रयुक्त तमंचा बरामद किया गया, जिसके सम्बन्ध में थाना देवां पर मु0अ0सं0 119/2022 धारा 3/25 आर्म्स एक्ट पंजीकृत किया गया।
  पुलिस के अनुसार सुनील यादव से पूछताछ करने पर प्रकाश में आया कि आरोपी किसान यूनियन का नेता है तथा मृतक वीरेन्द्र यादव उसका सगा भाई है। मृतक वीरेन्द्र यादव द्वारा अपने व अपने छोटे भाई नारेन्द्र के नाम तीन-तीन बीघा पैतृक भूमि का बैनामा करा लिया गया था और अभियुक्त सुनील यादव को उसके हिस्से की भूमि नहीं मिली, जिसका मुकदमा मा0 न्यायालय बाराबंकी में विचाराधीन है और मुकदमें की पैरवी मृतक वीरेन्द्र यादव द्वारा की जा रही थी। मृतक वीरेन्द्र यादव को रास्ते से हटाने के लिए अभियुक्त सुनील यादव ने महिला मित्र रेखा वर्मा जो कि किसान यूनियन की नेत्री हैं, के साथ मिलकर योजना बनाई। योजनाबद्ध तरीके से रेखा वर्मा द्वारा मृतक वीरेन्द्र यादव को प्रेमजाल में फंसाकर उसे नुमाइस ग्राउंड देवा में बुलाया और सुनियोजित ढंग से पूर्व से मौजूद अभियुक्त सुनील यादव द्वारा अपने सगे छोटे भाई की गोली मारकर हत्या कर दी गई।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ