Subscribe Us

बालू लोडिंग के लिए जा रही तेज रफ्तार ट्रक ने दो छात्राओं को रौंदा, एक की हालत गंभीर

            आक्रोशित ग्रामिणों ने सड़क किया जाम

सत्यदेव पाण्डे (सत्य स्वरूप)

चोपन/ सोनभद्र। जुगैल थाना क्षेत्र अंतर्गत गोठानी गाँव के समीप गुरुवार को स्कूल जा रही दो क्षात्राओं को बालू लोडिंग करने जा रही एक तेज रफ्तार ट्रक ने अपने आगोश में ले लिया जिसके बाद मौके पर कोहराम मच गया सुचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों घायल क्षात्राओं को तत्काल चोपन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया जहाँ प्राथमिक उपचार के बाद एक को वाराणसी ट्रामा सेंटर तथा एक को जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया वहीं ट्रक को पुलिस ने अपनी गिरफ्त में ले लिया| प्राप्त जानकारी के मुताबिक गुरूवार को अंशू कुमारी पुत्री सूर्यभान सिंह उम्र 15 वर्ष निवासी चनौली तथा मानवती पुत्री राजू उम्र 16 वर्ष साईकिल से गोठानी गाँव स्थित कन्या हाईस्कूल पढ़ने जा रही थी जैसे ही दोनों छात्राये बिजूल नदी पार की वैसे ही तेजी से आ रही पिछे से ट्रक ने अपनी आगोश में ले लिया और दोनों छात्रायें बूरी तरह जख्मी हो गई उधर जैसे ही इस बात की जानकारी ग्रामिणो को हुई तो भारी संख्या में लोग मौके पर पहुँच गये वहीं सुचना मिलते मौके पर पहुची पुलिस अग्रीम कार्यवाही में जुट गई।

    गौरतलब है कि जुगैल क्षेत्र में बालू खनन के दौरान मुख्य मार्ग पर ट्रकों की लंबी कतारें कुछ इस कदर लग गई है कि वहां पर आम आदमी का चलना दूभर हो गया नतीजतन ट्रकों के चालकों द्वारा पहले नंबर पाने की होड़ में स्थानीय विद्यालय में जा रही दो छात्राएं अंशु सिंह पुत्री सूर्यभान सिंह उम्र 16 वर्ष तथा मानवत्ति पुत्री राजू उम्र 18 वर्ष ट्रक की चपेट में आकर बुरी तरह से घायल हो  गई, जिसके बाद स्थानीय लोगों की सहायता से उसे स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया जहां डॉक्टरों द्वारा प्राथमिक उपचार के बाद हालत गंभीर देखते हुए एक बालिका अंशु सिंह को ट्रामा सेंटर के लिए रेफर कर दिया गया तो वहीं दूसरी बालिका को जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया है अगर डॉक्टरों की माने तो दोनों की हालत गंभीर बताई जा रही है वहीं घटना से स्थानीय लोगों में आक्रोश देखने को मिल रहा है लोगों की माने तो उत्तर प्रदेश से मध्य प्रदेश को जोड़ने वाली मुख्य सड़क पर खनन कर्ताओं का राज हो गया है जहां बेतहाशा बेतरतीब खड़े ट्रकों के कारण लोगों का आवागमन दूभर हो गया है 5 किलोमीटर की यात्रा लोग जान को जोखिम पर डालकर करते हैं लोगों की मानें तो उनका कहना है कि कब तक हमारे सामने आ जाए और यमराज बन कर हमें निगल जाए इसका कोई भरोसा नहीं रहता है।घटना से स्थानीय लोगो मे भी आक्रोश व्याप्त है। जुगैल जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि संजीव त्रिपाठी, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष अनील यादव आदि ने तत्काल घायल दोनों छात्राओं को बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर मांग करने लगे जिसके बाद बालू पट्टाधारको ने डेढ़ लाख रुपये तत्काल इलाज हेतु दिया और आगे भी इलाज के खर्चे के लिए कहा तब जाकर मामला शांत हुआ| सवाल उठता है कि आखिर जुगैल पुलिस कर क्या रही है जबकि चोपन भरहरी मार्ग बहुत ही व्यस्त मार्ग है जहाँ मध्यप्रदेश तक से रोजाना सैकड़ों की संख्या में लोग आते जाते रहते हैं साथ ही हजारों की संख्या में उतर प्रदेश के लोगों का आवागमन होता है ऐसे में नियम कानून को ताक पर रखकर बालू लोडिंग के लिए आ रही ट्रके किसके शह पर मनमानी कर रहे हैं सुत्रों की माने तो जब से जुगैल क्षेत्र में बालू की साइटे चालू हुई है जुगैल पुलिस दोनों हाथों से लड्डू खा रही है बताया जाता है कि कुछ थाने के चहेते पुलिसकर्मी दिन रात इन्ही साइटो के इर्द गिर्द रहते हैं और नंबर लगाने के लिए ट्क वालो से वसुली भी करते हैं देखना होगा कि आने वाले समय में दुर्घटनाओं पर अंकुश लगता है या फिर और किसी बड़ी दुर्घटना का इंतजार होता है क्योंकि इस रोड पर दर्जनों स्कुल है जहाँ अब पढ़ाई पूरी तरह से शुरू हो चुकी है और बच्चों का स्कुल आना जाना शूरु हो गया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ