Subscribe Us

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने के लिए भारतीय मीडिया फाउंडेशन महिला सेल चलाएगी अभियान


सत्य स्वरूप संवाददाता

गाजियाबाद। आए दिन महिलाओं पर हो रहे शोषण एवं अत्याचार को गंभीरता से लेते हुए कई महिला पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं ने महिला अधिकारों को लेकर जंग का ऐलान कर दिया हैं। 

भारतीय मीडिया फाउंडेशन महिला सेल गाजियाबाद की जिला अध्यक्ष सीमा दीक्षित ने कहां कि महिलाओं को नहीं मिल रहा न्याय  समाज में आज भी महिलाओं का बहुत बड़ा योगदान होता है लेकिन उनके प्रतिभा का कई भी मूल्यांकन नहीं होता महिलाओं को सिर्फ उपभोग की वस्तु समझने वाले लोगों की एक लंबी कतार लगी है उन्होंने कहा कि महिला अधिकारों की बात करने वाले लोगों ने इधर दो से तीन वर्षों की समीक्षा किया तो सबसे ज्यादा उन्हीं लोगों के द्वारा और उनके ही सगे संबंधियों के द्वारा शोषण का मामला प्रकाश में आया है। 

 कही भी महिलाओं और बेटीयों को न्याय और अधिकार नही मिल पा रहा है कही ससुराल में उत्पीड़न एवं प्रताड़ना झेलनी पड़ रही है तो कही बेटीयों को दहेज के लिए मारा जा रहा है लेकिन सरकारों का इस तरफ कोई ध्यान तक नहीं है ऐसे खूनी दरीन्दे खुले आम घूम रहे हैं क्योंकि उन्हें पता है कि पैसे के दम पर उनका कुछ नहीं होता हैं और एक पिता जिसने अपनी बेटी की शादी के पहले से कर्ज लेकर बेटी की शादी अपनी हेसियत से ज्यादा की हैं अब एक पिता क्या करें ? उन्होंने कहा कि ऐसे खूंखार लालची लोगों के लिए सरकार को सख़्त क़ानून बनाने की आवश्यकता हैं नही ऐसे लोग समाज को नष्ट कर देंगे समाज में बहुत बार ऐसा होता रहा हैं कभी बेटीयों के ऊपर तेजाब फेका जाता हैं और कोर्ट में केस दर्ज होने के बाद सालो- साल चलता हैं तब तक बेटीयों के परिवार बालो के ऊपर दबाव बनाए जाते हैं अब एक गरीब परिवार कर भी क्या सकता हैं अब समाज में ऐसे कुरीतियों को समाप्त करने के लिए समाज को भी आगे आना होगा इसी कडी में भारतीय मिडिया फाउंडेशन महिला सेल की टीम के द्वारा महिला जागरूकता अभियान चलाया जाएगा और महिलाओं को इससे अत्याचार के खिलाफ लड़ने के लिए अग्रसर किया जाएगा।

  भारतीय मीडिया फाउंडेशन महिला सेल की जिलाध्यक्ष   सीमा दीक्षित ने कहा कि मैं और मेरी टीम महिलाओं के अधिकार के लिए संघर्ष का बिडा उठाया है और समाज को जगाने का कार्य शुरू कर दिया हैं भारतीय मीडिया फाउंडेशन के बैनर तले इस नेक काम की आगाज कर रहीं हैं। 

उन्होंने कहा कि महिला सुरक्षा कानून को सख्त बनाए जाने की जरूरत है उन्होंने कहा कि दहेज प्रताड़ना की शिकार महिलाओं को तभी न्याय मिलेगा जब दहेज के नाम पर बहू बेटियों का शोषण करने वाले लोगों को भी फांसी की सजा का प्रावधान होगा। उन्होंने कहा कि लचीले कानून से बहू बेटियों की सुरक्षा नहीं होगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ