Subscribe Us

आखिर बीजेपी विधायक को क्यूं करनी पड़ी कान पकड़ कर उठक बैठक? ये चुनावी रणनीति है या गलती का अहसास!

   ख्वाजा खान

  सोनभद्र। कहा जाता है कि सियासत में शाम-दाम दंड-भेद चारो अपनाने पड़ते हैं, यदि आप को चुनाव जीतना है तो यह गुण आप में होना जरूरी है और वर्तमान विधायक इसके माहिर खिलाड़ी माने जाते हैं चर्चा है कि सदर विधायक पिछले 5 साल में कोई स्वास काम नहीं किए और क्षेत्र में घूमने के दौरान जब इन्हें जगह-जगह विरोध का सामना करना पड़ा तो वे मंगलवार अपने चुनाव कार्यालय पर त्रिदेव कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन कराया। जहां उनके विधानसभा क्षेत्र से तमाम कार्यकर्ताओं के अलावा अन्य लोग भी शामिल हुए।त्रिदेव कार्यक्रम चल ही रहा था कि कार्यक्रम के बीच में ही अचानक विधायक जी हाथ जोड़ते हुए खड़े हुए और खुद का कान पकड़ कर उठक बैठक करने लगे। चर्चा है कि शायद विधायक को अंतिम समय में खुद के गलती का एहसास हो गया और उन्हें ज्ञान प्राप्त हो गया। फिलहाल विधायक जी के इस हरकत से कार्यकर्ता भी स्तब्ध रह गए। कार्यकर्ता जयकारा लगाते रहे और विधायक जी उठक-बैठक जमाये रहे।

कार्यक्रम खत्म होते ही विधायक जी का यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से ट्रेंड होने लगा। लोग सोशल मीडिया पर लिखकर पूछने लगे यह क्या हो रहा है? कोई पूछ रहा है विधायक जी को अंतिम समय में ही यह ज्ञान क्यों मिला यदि कुछ पहले प्राप्त हो जाता तो शायद समय रहते उन गलतियों को सुधार पाते।बहरहाल चुनाव के मौसम में नेता चुनाव में विजय प्राप्ति हेतु जनता का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने के लिए तरह तरह के हथकण्डा अपना रहे हैं। मगर यह पब्लिक है भैया जो सब जानती है और समय आने पर उसका जबाब भी देती है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ