Subscribe Us

मिर्ज़ापुर नगर विधानसभा में होगी त्रिकोणी लड़ाई! सपा ने पूर्व मंत्री को बनाया प्रत्याशी

   महेंद्र पांडे

  मिर्जापुर। इस बार की विधानसभा चुनाव में सभी राष्ट्रीय पार्टियों ने देर में अपने प्रत्याशियों को घोषित किया! मसलन जाति समीकरण को कौन कितना साद रहा है! राजनीतिक दलों ने एक दूसरे का इंतजार किया! समाजवादी पार्टी ने नगर विधानसभा से अपने प्रत्याशी को घोषित कर दिया! तीन बार समाजवादी पार्टी का झंडा बुलंद करने वाले पूर्व मंत्री कैलाश चौरसिया को पार्टी ने विश्वास जताते हुए एक बार फिर नगर विधानसभा से चुनावी समर में उतार दिया है! सबसे पहले कांग्रेस ने ब्राह्मण चेहरे पर विश्वास जताते हुए राजन पाठक को नगर विधानसभा से उतारने का काम किया! फिर भारतीय जनता पार्टी ने वर्तमान विधायक रत्नाकर मिश्र पर विश्वास जताते हुए नगर विधानसभा से प्रत्याशी घोषित किया! अंतर कला से जूझ रही भारतीय जनता पार्टी अपने रूठे दिग्गज कार्यकर्ताओं को मान मनावल पर लगी है! इस बार मिर्ज़ापुर नगर विधानसभा में त्रिकोणी लड़ाई बनती दिख रही है! जनता की खामोशी सभी दलों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है! भारतीय जनता पार्टी कानून व्यवस्था माफिया राज को खत्म करने, और मेडिकल कॉलेज, विंध्य कॉरिडोर के तहत धार्मिक नगरी विंध्याचल का 331 करोड़ के भारी-भरकम राशि से विकास की बात, रोपवे, नगर विधानसभा में कई सअंतर पुल निर्माण, 20 से 24 घंटे बिजली की निर्बाध आपूर्ति, का लेखा-जोखा प्रस्तुत कर रही है! कांग्रेश महंगाई, कोरोना महामारी के दौर में सरकार के असफल होने, महंगाई, विंध्य कॉरिडोर योजना में मुआवजा कम देने और प्रशासनिक उत्पीड़न को मुद्दा बनाया है! समाजवादी पार्टी एक बार फिर लैपटॉप, समाजवादी पेंशन, किसान उत्पीड़न , नगर में जर्जर सड़कें, कानून व्यवस्था, बेरोजगारी को मुद्दा बनाया है। राजनीतिक पार्टियों के आरोप-प्रत्यारोप के बीच मतदाता खामोश है, यह गाना अतिशयोक्ति होगा की मतदाता किसके साथ जा रहा है। एक बात और है मौसमी नेताओं के द्वारा जनता को सारी सुविधाएं दिलाने का शिगूफा छोड़ा जा रहा है। भाजपा ही नहीं समाजवादी पार्टी में भी अंतर असंतोष दिखाई दे रहा है/तर्क यह है कि हमें भी सेवा का मौका मिले, वरिष्ठ कार्यकर्ता कह रहे हैं कि हमने भी बहुत दिनों से पार्टी की सेवा की है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ