Subscribe Us

दलितों को सम्मान दिलाने सपा में आए 'सुरेश'

   संवाददाता

 बाराबंकी। चुनावी बेला में मजबूत ठीहे की तलाश में निकले छोटे-बड़े नेताओं के लिए समाजवादी पार्टी ही हमराह बनी। कभी हाथी पर सवारी करने वाले अब साइकिल पर सवारी करने को आतुर दिख रहे हैं। ऐसे में पाला बदलने वाले इन नेताओं के लिए साइकिल की सवारी पंसदीदा विकल्प बन गया है। 

  गैरभाजपाई सियासत में अपना भविष्य देखने वाले दलित वर्ग का ऐसा नेता जो कभी मायावती का ओएसडी रहा। अब अखिलेश यादव का सिपहसालार नज़र आ रहा है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से हुई कई मुलाकातों के बाद उन्हीं के दिशा निर्देशन पर जैदपुर विधानसभा (सु) से दावेदारी कर रहे हैं। 

   विदित हो कि कांसीराम के साथ बहुजन समाज पार्टी में दलितों और पिछड़ों के हक-हकूक की लड़ाई लड़ने वाले बहुजन समाज पार्टी के कद्दावर नेता सुरेश चंद्र गौतम ने हाल ही सपा की सदस्यता ग्रहण की है। वह बसपा प्रमुख मायावती के मुख्यमंत्रित्व कार्यकाल में ओएसडी रहे। वर्ष 1996 में बसपा उम्मीदवार के तौर पर फतेहपुर विधानसभा का चुनाव भी लड़ा। 

   पेशे से अधिवक्ता सुरेश चंद्र गौतम ने सामाजिक कार्यों से दलितों में खासा लोकप्रिय है। उन्होंने सामाजिक गैरबराबरी, असमानता, अशिक्षा, दलितों के उत्थान की लड़ाई को लड़ा है। वह दलित समाज का एक ऐसा कोहिनूर है जिसकी परख शायद मायावती को नहीं थी। छात्र जीवन से दलित आंदोलन से जुड़े रहे सुरेश चंद्र गौतम ने हाल ही बसपा छोड़ सपा में शामिल हुए है। वह जैदपुर विधानसभा (सु) सीट से दावेदारी कर रहे है। 

   उनका मानना है कि यदि सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश ने उन पर भरोसा जताते हुए टिकट दिया तो यह सीट तो भारी मतों से जीतेंगे ही साथ ही वह दलितों के सम्मान की रक्षा भी करेंगे। उनको उनका हक़ और अधिकार दिलाएंगे। क्योंकि दलित सियासत के नेतृत्व से नई पीढ़ी काफी हताश हो चुकी है। वह किसी ऐसे नेतृत्वकर्ता की तलाश में है जो बाबा साहब डॉ भीमराव आंबेडकर की राजनीतिक, सामाजिक, वैचारिक चेतना के सिद्धांतों पर चले। 

    अखिलेश यादव ही एक मात्र ऐसे लीडर है जो उत्तर प्रदेश में नया दलित नेतृत्व खड़ा कर सकते हैं। वही दलितो, पिछड़ों और शोषित समाज के आंदोलन को सड़क से सदन तक लड़कर न्याय दिला सकते है। संघर्ष और आंदोलन को हथियार बनाने वाले युवा नेता अखिलेश यादव ही दलितों के घरों को विकास और स्वाभिमान से रोशन कर सकते है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ