Subscribe Us

सत्येन्द्र सिंह यादव एसओजी प्रभारी औरैया को मिला डीजीपी का सराहनीय सेवा सम्मान चिन्ह

    औरैया। 26 जनवरी को एसओजी प्रभारी सत्येंद्र सिंह यादव को जिला अधिकारी औरैया सुनील वर्मा व एसएसपी औरैया अभिषेक वर्मा द्वारा सत्येंद्र सिंह यादव को डीजीपी का सराहनीय सेवा सम्मान चिन्ह प्रदान किया गया ।

सत्येंद्र सिंह यादव पिछले 4 सालों से लगातार इटावा औरैया में एसओजी प्रभारी का पदभार संभाल रहे हैं इटावा में लगातार 3 साल तक एसओजी प्रभारी रहे। उसके बाद उनका स्थानांतरण औरैया जनपद में कर दिया गया सत्येन्द्र सिंह यादव इटावा जनपद में कई थानों के थाना अध्यक्ष भी रह चुके हैं अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने शराब माफिया पर नकेल कसी थी और जिले में सबसे ज्यादा शराब बरामदगी का रिकॉर्ड सत्येंद्र सिंह यादव के नाम दर्ज है। सत्येन्द्र सिंह यादव ने कई ब्लाइंड मर्डर का खुलासा करके अभियुक्तों को सलाखों के पीछे भेजा। 100 से अधिक बदमाशों को जेल भेजा और कई एनकाउंटर किए ।

अपर मुख्य सचिव / प्रमुख सचिव गृह द्वारा सत्येंद्र सिंह यादव व उनकी टीम को लगातार पुरस्कार देकर के सम्मानित किया जा चुका है औरैया में भी सत्येंद्र यादव ने एसएसपी अभिषेक वर्मा के निर्देशन में लगातार अच्छे कार्य किए हैं। सत्येन्द्र सिंह यादव के द्वारा लगातार  अच्छे कार्यों को देखते हुए डीजीपी मुकुल गोयल ने उन्हें सम्मान पत्र प्रदान किया है सम्मान पत्र को 26 जनवरी के अवसर पर जिला अधिकारी औरैया व एसएसपी औरैया ने सत्येंद्र सिंह यादव को प्रदान किया।

सत्येन्द्र सिंह यादव उस समय पूरे देश मे चर्चा में आये थे जब उन्होंने एसओजी प्रभारी इटावा के पद पर रहने के दौरान टेलीकॉम कंपनी के टॉवरों से नेटवर्किंग के कीमती कार्ड लूटकर अमेरिका में बेचने वाले गैंग के दस सदस्यों को  गिरफ्तार कर जेल भेजा था।  इनके पास से करीब दो करोड़ रुपये के लैन और आरएसपी कार्ड, तीन लग्जरी कारें और अवैध हथियार बरामद हुए हैं। गैंग का संचालन उत्तराखंड में तैनात जियो कंपनी का एजीएम रमेश शर्मा कर रहा था। इस कार्रवाई के बाद सत्येन्द्र ने देश भर में सुर्खियां बटोरी थी और कम्पनी के अधिकारियों के साथ साथ उन्हें शासन ने भी सम्मानित किया था।

डीजीपी सराहनीय सेवा चिन्ह प्रदान किये जाने पर सत्येन्द्र यादव अपनी इस सफलता का श्रेय अपनी टीम व विभाग के मुखिया एसएसपी अभिषेक वर्मा को मानते है और कहते है कि एसएसपी के कुशल निर्देशन में लगातार अपराधियो को जेल भेजा जा रहा है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ