Subscribe Us

क्या कोरोना के चलते टल जाएंगे विधानसभा चुनाव? हाईकोर्ट ने सुनाया ये फैसला


 संवाददाता

लखनऊ। कोरोना महामारी को देखते हुए विधान सभा चुनाव टालने की मांग वाली जनहित याचिका को शुक्रवार को हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने खारिज कर दी। न्यायालय ने कहा कि चुनाव आयोग एक संवैधानिक संस्था है, उसके कार्य में हस्तक्षेप नहीं किया जा सकता।  यह आदेश न्यायमूर्ति एआर मसूदी और न्यायमूर्ति सुरेश गुप्ता की खंडपीठ ने ऋषि कुमार त्रिवेदी की याचिका पर पारित किया। 
इस याचिका में मांग की गई थी कि महामारी के वर्तमान हालात देखते हुए चुनाव आयोग को आदेश दिया जाए कि वह उत्तर प्रदेश का विधानसभा चुनाव फरवरी और मार्च महीने में न कराए और महामारी के हालात सामान्य होने तक टाल दे।
न्यायालय ने याची की आलोचना करते हुए कहा कि याचिका दाखिल करने से पहले उसने विधान सभा चुनावों के पहले चरण के नोटिफिकेशन को प्राप्त करने की भी मशक्कत नहीं उठाई। चुनाव आयोग के नोटिफिकेशन को चुनौती दिए बिना सिर्फ चुनाव टालने के आदेश देना प्रक्रियात्मक तौर पर अवैध और अपोषणीय है। न्यायालय ने कहा कि इसके पूर्व भी ऐसी ही एक जनहित याचिका को खारिज किया जा चुका है। न्यायालय ने वर्तमान याचिका को भी अपोषणीय पाते हुए खारिज कर दिया।

सोर्स हिंदुस्तान

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ