Subscribe Us

भाजपा लोकतंत्रिक मूल्यों की हत्या पर उतारू हो गई है : राकेश वर्मा

   सगीर अमान उल्लाह

   बाराबंकी। विधानसभा चुनाव में अपनी हार को देखकर भाजपा लोकतंत्रिक मूल्यों की हत्या पर उतारू हो गई है। ऐसा पहली बार हुआ जब राजनीति में विश्वास का संकट पैदा हुआ है सत्ता शीर्ष की भाषा अभद्र व मर्यादाविहनी होती जा रही है। 2022 का विधानसभा चुनाव लोकतंत्र को बचाने का अन्तिम चुनाव है,उक्त विचार विधानसभा रामनगर के अन्तर्गत ग्राम गनेशपुर बाजार में सेक्टर व बुथ प्रभारियों की बैठक को सम्बोधित करते हुए पूर्व कारागार मंत्री राकेश कुमार वर्मा ने व्यक्त किये, वर्मा ने आगे कहा कि प्रदेश में ऐसा पहली बार हुआ है कि जब राजनीति में विश्वास का संकट पैदा हुआ हो भाजपा सरकार में किसान तबाह है नौजवान रोजगार के लिए भटक रहे है उद्योग और काम धन्धे बन्द है भाजपा राज में प्रदेश की जनता कराह रही है। चारो ओर सपा की लहर चल रही है जनता ने मन बना लिया है कि वह इस बार भाजपा को पराजय कराएगी,भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में प्रदेश की जनता से जो वादे किए थे उनमें से एक भी वादा सरकार में रहते हुए पूरा नहीं किया भाजपा के पास अपना काम बताने लायक कुछ भी नहीं है भाजपा विरोधियों को प्रताड़ित करने और झूठ-फरेब की राजनीति करती है प्रदेश की जनता इससे अवगत है और वह अब किसी भी हालत में भाजपा को प्रदेश की गद्दी पर रहने नही देगी, सुन्दर लाल यादव की अध्यक्षता तथा मोहम्मद सबाह के संचालन में हुए उक्त कार्यक्रम को मुख्य रूप से रामनरेश यादव, संदीप कुमार यादव, वरिष्ठ नेता हाजी साहब खालिद, वसीम बेलखरा, गुड्डू हसन, विधायक प्रतिनिधि मोहम्मद रिजवान संजय, मनोज कुमार यादव, मुकेश प्रजापति, सरवन कुमार, सुशील कुमार, श्याम प्रकाश त्रिवेदी, डॉ0 अवधराम वर्मा, झब्बूलाल रावत, प्रमोद गौतम, राम मनोरथ रावत, कन्धइय्यालाल वर्मा, संजय वर्मा प्रधान, डॉ0 दिनेश यादव, उमेश यादव, राजेन्द्र यादव, एम0डी0 आनन्द समेत आदि ने सम्बोधित किया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ