Subscribe Us

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल महादेवा कुर्मी प्राथमिक विद्यालय आंगनबाड़ी केंद्र पहुंची

बच्चों को बांटी किताबें और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को दिया किट

असदुल्लाह सिद्दीकी

सिद्धार्थनगर। राज्यपाल श्रीमती आनन्दी बेन पटेल जी के जनपद में तीन दिवसीय प्रवास के दूसरे दिन प्राथमिक विद्यालय व आंगनबाड़ी केन्द्र महदेवा कुर्मी विकास खण्ड बर्डपुर का भ्रमण किया गया।राज्यपाल श्रीमती आनन्दी बेन पटेल जी द्वारा सर्वप्रथम मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर एवं द्वीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। इसके पश्चात विधायक कपिलवस्तु श्यामधनी राही तथा ग्राम प्रधान द्वारा राज्यपाल श्रीमती आनन्दी बेन पटेल जी को पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया गया। राज्यपाल श्रीमती आनन्दी बेन पटेल द्वारा राजभवन से उपलब्ध करायी 10 तथा व्यवसायियों- अनूप छापड़िया, धनश्याम जायसवाल, सोहराब, अनिल कुमार जायसवाल, अजय कुमार, अभिषेक सिंह, राम नरेश जायसवाल, अशोक अग्रवाल द्वारा उपलब्ध कराये गये 10 कुल 20 बॉर्डर के गांवों की आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को प्रि-स्कूल किट एवं प्रमाण-पत्र दिया गया तथा प्राथमिक विद्यालय में अध्ययनरत छात्रों में पुस्तक का वितरण किया गया। राज्यपाल श्रीमती आनन्दी बेन पटेल स्थानीय लोगो एवं अधिकारियों से संवाद किया गया। राज्यपाल द्वारा अनूप छापड़िया, धनश्याम जायसवाल, सोहराब, अनिल कुमार जायसवाल, अजय कुमार, अभिषेक सिंह, राम नरेश जायसवाल, अशोक अग्रवाल को प्रशास्ति पत्र दिया गया। 

राज्यपाल श्रीमती आनन्दी बेन पटेल ने उपस्थित सभी जनप्रतिनिधियों तथा अन्य लोगो का अभिवादन स्वीकार करते हुए कहा कि आप लोग इस पवित्र धरती पर रहते है। इसी धरती से महात्मा बुद्ध ने शान्ति का पूरे विश्व में सन्देश दिया था। उन्होंने बताया कि बच्चो को सर्वप्रथम शिक्षा के प्रति सभी लोगो को जागरूक होकर शिक्षा देनी चाहिए। बच्चे ही देश का भविष्य है। सभी बच्चे को सुविधाएं समान मिलनी चाहिए। चाहे वह किसी भी क्षेत्र में रहता हो। प्रधानमंत्री भारत सरकार तथा मुख्यमंत्री उ0प्र0 की सोच है कि सबका साथ विकास और सबके प्रयास से प्रदेश विकास की तरफ अग्रसर है। भारत के संविधान में उल्लेख है कि भारत के हर नागरिक को 14 साल तक शिक्षा दिये जाने का प्राविधान है। अगर किसी ने बच्चो को नही पढ़ाया तो उसमें दण्ड का प्राविधान भी है। सभी ग्राम प्रधान जनपदप्रतिनिधियों का प्रयास होना चाहिए कि बच्चो का शिक्षा दी जाये। प्रदेश की जनगणना के अनुसार देखा गया कि महिला और पुरूष में आजादी के 50 साल बाद 100 में 85 महिला शिक्षित है जबकि यह 100 प्रतिशत होना चाहिए। हमारे समाज का सबसे बड़ा अभिशाप दहेज प्रथा है। राज्यपाल ने दहेज प्रथा खत्म करने की अपील किया। प्रधानमंत्री जी ने वर्ष 2025 तक देश को टी.वी. मुक्त बनाने का संकल्प लिया है इसे पूरा करने के लिए को प्रयास करना चाहिए। गर्भवती महिलाओ को पोषक भोजन दे जिससे बच्चो स्वस्थ्य पैदा हो। अपनी बहू को बेटी की तरह माने वह आपके कार्यो में सहयोग करेगी। इसके साथ ही बाल विवाह को खत्म करने का भी संकल्प ले। उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाये। 

जिलाधिकारी दीपक मीणा ने टी.वी. मुक्त भारत बनाने के लिए उपस्थित सभी लोगो को शपथ दिलायी। इसके पश्चात पुलिस अधीक्षक डा0 यशवीर सिंह द्वारा राज्यपाल तथा उपस्थित जनप्रतिनिधियों का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कि आप द्वारा दिये गये मार्गदर्शन का जनपद शत-प्रतिशत अनुसरण करके प्रगति के पथ पर आगे बढ़ेगा।विधायक कपिलवस्तु श्याम धनी राही राज्यपाल श्रीमती आनन्दीबेन पटेल जी को महात्मा गौतम बुद्ध की प्रतिमा भेट किया गया। इस अवसर पर उपरोक्त के अतिरिक्त अपर जिलाधिकारी उमाशंकर, अपर पुलिस अधीक्षक सुरेश चन्द्र रावत, जिला विकास अधिकारी शेषमणि सिंह, पी0डी0 सुरेन्द्र कुमार गुप्ता, डी0सी0मनरेगा संजय शर्मा, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी देवेन्द्र कुमार पाण्डेय, जिला समाज कल्याण अधिकारी डा0 राहुल गुप्ता, जिला पंचायत राज अधिकारी आदर्श ग्राम प्रधान महदेवा कुर्मी अजीजुरहमान तथा अन्य उपस्थित थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ