Subscribe Us

सोच बदलो-चुप्पी तोड़ो" नुक्कड़ ‌नाटक कर स्कूली बच्चों ने बेटियों,महिलाओं को किया जागरूक

   असदुल्लाह सिद्दीकी

  सिद्धार्थनगर। शेमफोर्ड फ्यूचरिस्टिक स्कूल के छात्रों ने महिला सशक्तिकरण के अंर्तगत की एक अनोखी पहल । कक्षा ग्यारहवीं के छात्रों ने शहर के साड़ी चौराहे पर पहुंचकर "सोच बदलो-चुप्पी तोड़ो" नुक्कड़ ‌नाटक का आयोजन कर बेटियों,महिलाओं की सुरक्षा के लिए लगाई गुहार।आज अपर पुलिस अधीक्षक सुरेश चंद रावत, के नेतृत्व में शेमफोर्ड फ्यूचरिस्टिक स्कूल के छात्रों ने "सोच बदलो-चुप्पी तोड़ो" नुक्कड़ नाटक का आयोजन कर आजाद देश में बेटियों की सुरक्षा के लिए गुहार लगाई । महिला सशक्तिकरण जागरूकता अभियान पर आधारित आयोजित इस नुक्कड़ नाटक में कक्षा 11 के छात्र, छात्राओं ने आजाद भारत में महिलाओं की दुर्दशा बताते हुए इससे बदलने की गुहार लगाई । इसके साथ ही देश के स्वतंत्रता को वास्तव में सार्थक बनाने के लिए महिलाओं के लिए सुरक्षित माहौल तैयार करने की अपील की गई । महिलाओं के साथ छेड़छाड़, बलात्कार, दहेज हत्या जैसी बुराइयों को दूर करने के लिए एकजुट होने का आह्वान किया गया ।इन छात्रों के द्वारा सिद्धार्थनगर में पहली बार महिलाओं की सहायता हेतु महिला सहायता पत्र-पेटिका शहर के चार प्रमुख स्थान सिद्धार्थ तिराहा, बांसी टैक्सी स्टैंड तिराहा, अशोक मार्ग तिराहा और साड़ी तिराहे पर लगानें का निर्णय किया है । जिसका उद्घाटन सुरेश चंद रावत, अपर पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थनगर द्वारा किया गया। कार्यक्रम के अवसर पर सदर  क्षेत्राधिकारी प्रदीप कुमार यादव सिद्धार्थनगर माहिला थानाध्यक्ष श्रीमती मीरा चौहान, प्रधानाचार्य वैभव वैंटू तथा अन्य शिक्षकगण व छात्र,छात्रायें मौजूद रही । उक्त कार्यक्रम का संचालन शेमफोर्ड फ्यूचरिस्टिक स्कूल के शिक्षक अनुपम तिवारी द्वारा किया गया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ