Subscribe Us

संविधान की प्रस्तावना पढ़कर हैदरगढ़ न्यायालय परिसर में धूमधाम से मनाया गया संविधान दिवस

लोगों को संविधान के अनुसार कार्य करने चाहिए : आशुतोष प्रशांत 

मोहम्मद सलमान (सत्य स्वरूप)

बाराबंकी। हैदरगढ़ न्यायालय परिसर में सिविल जज जू0डि0 कोर्ट संख्या-24, हैदरगढ़, बाराबंकी आशुतोष प्रशांत शुक्ला के द्वारा हैदरगढ़ न्यायालय परिसर में संविधान की प्रस्तावना पढ़कर हम, भारत के लोग,...भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न समाजवादी पंथनिरपेक्ष लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए, तथा उसके समस्त नागरिकों कोः सामाजिक, आर्थिक और राजनैतिक न्याय, ’विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता, प्रतिष्ठाऔर अवसर की समता प्राप्त कराने के लिए, तथा उन सब में व्यक्ति की गरिमा और राष्ट्र की एकता और अखण्डता सुनिश्चित करने वाली वन्धुता बढ़ाने के लिए दृढ़ संकल्प होकर अपनी इस संविधान सभा में आज तारीख 26 नवम्बर, 1949 ई. (मिति मार्गशीर्ष शुक्ला सप्तमी, संवत् दो हजार छह विक्रमी) को एतद्द्वारा इस संविधान को अंगीकृत और आत्मार्पित करते हैं, मौजूद लोगों को सुनाया गया तथा संविधान के बारे में विस्तारपूर्वक चर्चा भी की गई।   

प्राप्त जानकारी के अनुसार हैदरगढ़ न्यायालय परिसर में में धूमधाम से मनाया गया संविधान दिवस। इस अवसर पर नरेन्द्र कुमार वर्मा पूर्व महामंत्री जिला बार एसोसिएशन, बाराबंकी ने भी अपने विचार रखें तथा उपस्थित सभी लोगों से अपील किया कि संविधान के सम्मान के लिए हम लोगों को संविधान में बताये गये कर्तव्यों का पालन करना चाहिए।

इस अवसर पर राजेश श्रीवास्तव, दीपक जैन, ओम प्रकाश चौहान, आशीष मिश्रा, अमरेन्द्र वर्मा, विश्वनाथ मिश्रा, उमाकांत द्विवेदी, अंशुमान सिंह, बाल्मीकि मिश्रा, रवि श्रीवास्तव, मुरलीधर द्विवेदी सहित सैकड़ों अधविक्ता तथा राकेश तिवारी नाजिर, नंद कुमार बाजपेई पेशकार, दिनेश कुमार, अमित यादव, लिपिक आदि मौजूद रहें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ