Subscribe Us

फिर दबोचे गए नशे के तीन सौदागर, बाहर से लाकर बेचना चाह रहे थे मादक पदार्थ

एसीपी क्राइम के निर्देशन में हाँथ लगी सफलता, माल व बोलेरो बरामद

निखिल वाजपेई

लखनऊ। कमिश्नरेट पुलिस लखनऊ व अपराध शाखा द्वारा युवा पीढ़ी को नशे के आगोश में धकेलने वाले सौदागरों की धड़पकड़ लगातार जारी है। इसी क्रम में अब कमिश्नरेट पुलिस महानगर व स्वाट टीम ने नशे के तीन और सौदागरों पर शिकंजा कसते हुए उन्हें सलाखों के पीछे भेजा है। इनके पास से मादक पदार्थ ( अफीम छिलका ) व एक बोलेरो बरामद गाड़ी बरामद हुई है। एसीपी क्राइम प्रवीण मलिक ने बताया कि सोमवार रात उत्तरी ज़ोन की महानगर पुलिस व स्वाट टीम कमिश्नरेट पुलिस सर्वोदय नगर बंधे पर चेकिंग कर रहे थे कि तभी एक बोलेरो गाड़ी ( यूपी 32 केजेड 0915 ) आती दिखाई दी। बोलेरो गाड़ी को रोकने का प्रयास किया तो चालक ने गाड़ी थोड़ी दूर पर ही रोक दी और चालक समेत गाड़ी में बैठे दो और युवक उतरकर भागने लगे। तभी स्वाट टीम प्रभारी निरीक्षक धर्मेंद्र यादव व इंस्पेक्टर महानगर आशीष द्विवेदी के नेतृत्व में चेकिंग में लगी टीम ने घेराबन्दी कर पकड़ लिया और भागने का कारण पूछा। इस पर तीनों ने कुबूल किया कि वे बोलेरो गाड़ी में तीन प्लास्टिक बोरा भरकर अफीम छिलका लेकर बेचने निकले है लेकिन आप लोगो ने पकड़ लिया। इंस्पेक्टर महानगर आशीष द्विवेदी ने बताया कि बरामद मादक पदार्थ का वजन साढ़े पैंतीस किलो है। पकड़े गए तीनो आरोपी की पहचान मोहम्मद अनवर निवासी सआदतगंज, पुरुषोत्तम वर्मा व अतुल वर्मा निवासी सतरिख बाराबंकी के रहने वाले हैं। 

हजारों में है कीमत, बाराबंकी से जुड़े तार

इंस्पेक्टर महानगर आशीष द्विवेदी ने बताया कि एक्जैक्ट तो नही बताया जा सकता लेकिन जानकारी में आया है कि अफीम छिलका एक महंगा मादक पदार्थ है। वहीं जानकारों की माने तो इसकी कीमत तीन से साढ़े तीन हजार रुपये किलो होती है। वैसे कुछ जानकार कहते है कि इस तरह के पदार्थ की उपज पड़ोसी जनपदों में की जाती है। वही इंस्पेक्टर आशीष द्विवेदी का कहना है कि इन आरोपियों के गिरोह में क्या अन्य सदस्य भी है इसकी पड़ताल हमने शुरू कर दी है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ