Subscribe Us

ग्राम पंचायत सदस्य का आरोप : लेखपाल की मिलीभगत से ग्राम समाज की जमीन पर हो रहा अवैध कब्जा

    सचिन श्रीवास्तव

  मसौली/बाराबंकी। कस्बे के डाकखाना बाग के बगल में खाली पड़ी ग्राम समाज की भूमि गाटा संख्या 10761 रकबा 0.760 पर क्षेत्रीय लेखपाल धर्मानन्द की मिलीभगत से संतरी नामक महिला का कब्जा करा दिया गया, जिसकी शिकायत पूर्व में कई बार संबंधित अधिकारियों से की गई है किंतु अधिकारियों के संज्ञान न लेने पर महिला के हौसले बुलंद है अब वहां भूमि पर अवैध पक्का निर्माण करवा रही है।

  अवैध निर्माण की जानकारी होने पर आज पुनः वार्ड नंबर 6 की ग्राम पंचायत सदस्य राजकुमारी ने शिकायत हेतु जिले के उच्चअधिकारियों तथा लेखपाल को अवगत कराने हेतु फोन किया किंतु उनका फोन नहीं उठा। राजकुमारी का आरोप है कि क्षेत्रीय लेखपाल ने पचास हजार रूपए संतरी देवी से लेकर ग्राम समाज की जमीन पर अवैध कब्जा करा दिया है यही कारण है कि उसके विरुद्ध लेखपाल प्रभावी कार्यवाही नहीं कर रहे और न मौके पर आना चाहते हैं।

   वही ग्राम प्रतिनिधि का कहना है कि उक्त शिकायत पर मैंने लेखपाल को कई बार बुलाया की समस्या का निस्तारण कराया जा सके किंतु लेखपाल मौके पर आना नहीं चाहते हैं और जब अवैध कब्जा धारक संतरी से बात किया तो उसने बताया कि मैंने लेखपाल साहब को दीपावली से पहले पचास हजार रुपए दिए हैं मैं जमीन नहीं खाली करूंगी या तो मुझे पैसा वापस दिलवाओ।

             इस संबंध में जब उप जिला अधिकारी नवाबगंज से फोन पर बात की गई तो उन्होंने मीटिंग में होने का कारण बता कर दोबारा काल करने को कहा। वहीं जब तहसीलदार नवाबगंज से फ़ोन पर  बात की गई तो उक्त प्रकरण की जानकारी न होने की बात कही और लेखपाल का पक्ष लेते हुए जनता द्वारा लेखपाल पर लगाए आरोपों को निराधार बताया। उनका कहना था कि लेखपाल कब्जा हटवाता है न कि कब्जा करता है।

    फिलहाल सरकार ने स्पष्ट कर दिया था कि अगर कोई ग्राम समाज की जमीन पर अवैध कब्जा करता है तो उसके विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाएगी। अब देखना ये होगा कि जिले के उच्च अधिकारी इस सम्बंध में कोई उचित कार्यवाही करते है या फिर उस भूमि पर  अवैध निर्माण जारी रहेगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ