Subscribe Us

बीजेपी की नीतियों से परेशान महंत मिलनदास गिरी अपने समर्थकों के साथ सपा में शामिल

   नदीम कुरैशी

 बाराबंकी। कुर्सी विधानसभा में जनसंपर्क के दौरान चौधरी उबैद रंडवा ग्राम स्थित महंत मिलनदास गिरी की कुटी पहुंचे। 101 वर्षीय बाबा मिलनदास गिरी ने चौधरी उबैद को आशीर्वाद देकर सपा की जीत के लिये मनोकामना की। 

    चौधरी उबैद के कुटी में आगमन की खबर पाकर लगभग आधे ग्रामीण वहाँ पर एकत्र हो गए। महन्त रामदास ने लोगो से कहा कि आप लोग देख ही रहे हैं बीजेपी ने धर्म का धंधा शुरू कर दिया है। चुनाव नजदीक आते ही मुख्यमंत्री द्वेषपूर्ण भाषण देकर लोगो को बांट रहे हैं। पिछली सपा सरकार ने सभी धर्म वर्ग के लोगो के लिए कार्य किये थे। मुख्यमंत्री खुद योगी होकर हमारे समाज के लिए कार्य नही कर रहे । हिंदुत्व का चोला ओढ़कर सिर्फ हिंदुओं को ठगा जा रहा है। आज मैं एलान करता हुँ कि मैं बीजेपी सरकार से परेशान हूँ इसी लिए मैं बीजेपी छोड़ कर अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ सपा की सदस्यता ले रहूँ।

    वही कुटी पर चौधरी उबैद ने बीजेपी छोड़ सपा में शामिल हुए सैकड़ों महिला पुरुषों को धन्यवाद दिया और कहा कि आप लोगो ने सही फैसला किया है सपा में सबका बराबर सम्मान होता है। इस सरकार में न जाने कितनी हत्यायें बलात्कार हुए लेकिन सरकार उनको बचाने के लिए सुबूत मिटा देती है। उन्होंने कहा कि इस सरकार में महंगाई चरम पर पहुंच चुकी है गरीब आदमी अपना पेट कैसे भरेगा। केवल 5 किलो राशन देने से गरीबो की हालत नही सुधार सकती। कोरोना से देश के हालात वैसे ही खराब हो चुके। ऊपर से लोगो पर जुल्म करके सरकारी भ्रष्टाचार ने उनका जीना दुशवार कर दिया है। 

     क्षेत्र की एक महिला ने बताया कि प्रदेश की सरकार ने हम पर इस कदर महँगाई का बोझ डाल दिया है कि अब इस बोझ को लेकर चलना हमारे बस की बात नही। अबकी बार इस सरकार को हटाकर ही दम लेंगे। किसानों पर जुल्म करने वाली ऐसी सरकार को जनता चुनाव में इनको सबक सिखाएगी।

   आपको बता दे कि यूपी में विधानसभा चुनाव के सिर्फ कुछ ही महीने बचे है। ऐसे में समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता चौधरी उबैद टिकट के लिए प्रबल दावेदारी कर रहे हैं। पिछले 6 महीनों से वो लोगो के बीच जाकर सपा की नीतियों और पिछली अखिलेश सरकार द्वारा कराए गए कार्यो के बारे लोगो को बताकर उनको सपा से जोड़ रहे हैं। उनकी मेहनत का ही नतीजा है जो आज क्षेत्र में लगातार लोग सपा की सदस्यता ले रहे हैँ। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ