Subscribe Us

पटेल जयंती के अवसर पर मोहनलाल वर्मा डिग्री कॉलेज में विचार संगोष्ठी का आयोजन

   सगीर अमान उल्लाह

  बाराबंकी। सरदार बल्लभ भाई पटेल किसानों के सच्चे हितैषी थे।1928 में हुए बारदोली सत्याग्रह में किसान आंदोलन का सफल नेतृत्व करते हुए सूखे से पीड़ित किसानों के लिए उन्होंने जोरदार संघर्ष करते हुए किसानों को अंग्रेजों द्वारा वसूले जा रहे टैक्स से राहत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी उक्त विचार समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष हाफिज अयाज अहमद की अध्यक्षता एवं पार्टी के जिला कोषाध्यक्ष प्रीतम सिंह वर्मा के संचालन में मोहनलाल वर्मा डिग्री कॉलेज में जिला समाजवादी पार्टी द्वारा आयोजित भारत रत्न महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी लौह पुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल जी की 146 वी जयंती पर आयोजित विचार गोष्ठी मे आए हुए लोगों को संबोधित करते हुए व्यक्त किए उन्होंने कहा कि सरदार पटेल हमेशा देश की एकता और अखंडता को मजबूत बनाए रखने के लिए काम करते रहते थे, भारत को अखंड भारत बनाने के लिए आपने 562 से भी अधिक देसी रियासतों को जोड़कर एक मजबूत देश बनाने का काम किया। सरदार पटेल के लिए हमेशा से भारत के किसान भारत के नौजवान महत्वपूर्ण रहे उन्होंने हमेशा किसानों के उत्थान के लिए नौजवानों के विकास के लिए और देश कैसे ऊंचाइयों की ओर जाए इसी की लड़ाई लड़ते रहे हम आपको सरदार पटेल जी से प्रेरणा लेते हुए देश की एकता और अखंडता के लिए हमेशा संघर्ष करते रहना चाहिए और भारत को मजबूत करने के लिए हमेशा काम करना विचार गोष्ठी को संबोधित करते हुए समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता पूर्व सांसद रामसागर रावत ने कहा सरदार पटेल बहुत ही दूरदर्शी नेता थे वह हमेशा भारत और भारत की जनता कैसे खुशहाल हो इसी के लिए काम करते थे। अपने विजन और अपने लक्ष्य के हमेशा समर्पित रहने लगन और क्षमता से काम करने के कारण ही राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने सरदार पटेल को लौह पुरुष की उपाधि दी थी। भारत देश के विकास लिए उनकी प्रतिबद्धता का ही नतीजा है कि आज हम एक मजबूत भारत में रह रहे हैं विचार गोष्ठी को संबोधित करते हुए कार्यक्रम प्रभारी विजय बहादुर वर्मा कार्यकर्ताओं को बताएगा सरदार बल्लभ भाई पटेल का जन्म अट्ठारह सौ सत्तावन को गुजरात के नडियाद में हुआ था उन्होंने लंदन में जाकर अपनी बैरिस्टर की पढ़ाई पूरी की बैरिस्टर की पढ़ाई पूरी करने के पश्चात अहमदाबाद में वकालत करने लगे इसी दौरान आजादी की लड़ाई जोर पकड़ने लगी सरदार पटेल भी महात्मा गांधी के विचारों से प्रेरित होकर भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में कूद पड़े सरदार पटेल ने भारत देश को संपन्न देश बनाने के लिए तमाम संघर्ष किए सरदार पटेल का ही विजन था कि भारतीय प्रशासनिक सेवा देश को एक रखने में अहम भूमिका निभाई उन्होंने भारतीय प्रशासनिक सेवा को मजबूत बनाने पर काफी जोर दिया किसी भी देश का आधार उसकी एकता और अखंडता में निहित होता है और सरदार पटेल देश की एकता के सूत्र धार थे इसी वजह से उनके जन्मदिन को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जाता है। हम सभी को सरदार वल्लभ भाई पटेल से प्रेरणा लेते हुए उनके संघर्षों से सीखते हुए अपने लक्ष्य के लिए हमेशा संघर्ष करना चाहिए देश और समाज के लिए हमेशा एकजुट होकर उनके लिए लड़ाई लड़नी पड़ेगी  तभी हम समाज को उस मुकाम तक पहुंचा पाएंगे जिसकी कल्पना सरदार बल्लभ भाई पटेल किया करते थे कार्यक्रम को संबोधित करते हुए महिला सभा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्रेया वर्मा ने आए हुए सभी अतिथियों का स्वागत किया और सभी का आभार व्यक्त किया

   विचार गोष्ठी से पूर्व सरदार वल्लभ भाई पटेल जी के चित्र पर जिला अध्यक्ष हाफिज अयाज अहमद, कार्यक्रम प्रभारी विजय बहादुर वर्मा, पूर्व विधायक राम मगन रावत, पूर्व विधायक रतन लाल राव, श्रेया वर्मा, नेहा सिंह आनंद, रेनू वर्मा ने माल्यार्पण कर और पुष्पांजलि समर्पित कर उन्हें नमन किया विचार गोष्ठी में मुख्य रूप से पूर्व विधायक राम मगन रावत, पूर्व एमएलसी अरविंद यादव, पूर्व विधायक रतन लाल राव, महिला सभा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्रेया वर्मा, यूवजनसभा की राष्ट्रीय सचिव नेहा सिंह आनंद, जिला उपाध्यक्ष अजय वर्मा बबलू, कामता  यादव, राजेंद्र वर्मा पप्पू, संदीप सिंह, मिथिलेश तिवारी, हिमांशु यादव, जिला कोषाध्यक्ष प्रीतम सिंह वर्मा, जिला सचिव वीरेंद्र प्रधान, वीरेंद्र वर्मा नेवली, पवन वर्मा, डॉ शरद वर्मा, सिरौलीगौसपुर की प्रमुख श्रीमती रेनू वर्मा, पूर्व प्रमुख संतोष वर्मा, प्रदेश सचिव पंकज यादव, योगेंद्र सिंह पटेल, जिला अध्यक्ष युवजनसभा के जिला अध्यक्ष आशीष सिंह आर्यन, जिला अध्यक्ष छात्र सभा आकाश यादव, जिला अध्यक्ष पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ अखिलेश वर्मा, जिला अध्यक्ष चिकित्सा प्रकोष्ठ शैलेश वर्मा, लोहिया वाहिनी  जिला अध्यक्ष यशवंत यादव, महिला सभा के जिला अध्यक्ष सरोज मौर्या, अनुसूचित प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष वसंत सिंह गौतम, शिक्षक सभा के जिला अध्यक्ष अमित यादव, डॉक्टर आई के वर्मा ,गौतम रावत, अंबिका प्रसाद वर्मा, डॉक्टर अमरीश शास्त्री, अदनान चौधरी, ओम चंद्र यादव, तुषार यादव, अनिल साहू, मिथिलेश वर्मा, सुभाष चंद्र वर्मा, धीरज दत्त वर्मा, अजय वर्मा ,श्रीमती विद्यावती यादव, वेद प्रकाश बाजपेई, नगर अध्यक्ष संतोष जयसवाल, जिला पंचायत सदस्य ललित वर्मा, सोनी यादव, विधानसभा अध्यक्ष हैदर गढ़ परशुराम यादव, उबेद सानू, मोनू रावत, आदि प्रमुख पदाधिकारी व कार्यकर्ता मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ