Subscribe Us

राजनीतिक गलियारे में चौधरी उबैद ने तेज की हलचल

  संवाददाता

बाराबंकी। यूं तो बाराबंकी को सपा का गढ़ माना जाता है लेकिन पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी की आंधी ने जनपद में सपा के पांच मजबूत किलो को ढहा दिया था और 6 विधानसभा सीटों में केवल एक ही सीट सपा जीत पाई थी। लेकिन इस बार परिस्थितियां फिर बदल रही हैं बढ़ती महंगाई, किसानों का लगातार विरोध प्रदर्शन, बेरोजगारी,ढुलमुल कानून व्यवस्था आदि मुद्दों को भुनाने में समाजवादी पार्टी बीजेपी पर भारी पड़ रही है। आलम यह है कि अब बीजेपी का वोट बैंक धीरे-धीरे खिसकने लगा है।

  जनपद की सभी 6 सीटों पर इस बार सपा के संभावित टिकट के दावेदार जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं। अगर हम बात करें कुर्सी विधानसभा सीट की तो 2012 में यह सीट समाजवादी के खाते में गई थी। 2022 में एक बार फिर ऐसा लग रहा है कि अब पासा पलटेगा, क्योंकि जिस तरह से सपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता चौधरी उबेद इस सीट पर मेहनत कर रहे हैं उससे तो साफ जाहिर है कि अबकी बार इस विधानसभा में लोग साइकिल की सवारी करना पसंद करेंगे। अगर बात की जाए उबेद की मेहनत की, तो हर रोज क्षेत्र में जाकर सैकड़ों लोगों को सपा की सदस्यता दिला रहे हैं। अखिलेश यादव की नीतियों को जन जन तक पहुंचा रहे हैं। उनकी नजर बूथ स्तर तक है वह हर बूथ पर इतनी मेहनत कर रहे हैं कि जिससे इस बार कुर्सी विधानसभा सीट पर सपा का परचम लहराना तय माना जा रहा है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ