Subscribe Us

वृद्ध को बनाया बंधक, अपाहिज वृद्धा को भी नही बख्शा, घर में घुसकर बदमाशों ने करी लूटपाट


पीढ़ियों पुराने एनकीट आइटम व जूलरी कीमत लगभग पचास लाख और सात लाख लूटे

असलहों से लैस तीन बदमाशों ने दिया अंजाम, आशंकित को नामजद कर पुलिस तफ्तीश जारी

अपराध संवाददाता

लखनऊ। पश्चिम इलाके चौक थाना क्षेत्र में दिनदहाड़े दिल दहला देने वाली वारदात से सनसनी फैल गई। गोधुला बेला के लगभग पौने चार बजे सायं काल के वक्त एक परिवार में वृद्ध व अपाहिज वृध्हा को असलहा लैस  तीन बदमाशों ने लाखों की लूटपाट की और सात लाख कैश भी लूटकर धमकी देते हुए फरार हो गए। घटना की जानकारी पाकर पुलिस पहुँची और तफ्तीश शुरू की है। चौक थाना क्षेत्र के मिर्जा मंडी निवासी विवेक चावला उर्फ मुन्ना ने बताया कि वह अपने नाना के घर मे वृद्ध मौसी के साथ रहते हैं। शाम लगभग पौने चार बजे दो लड़कों ने दस्तक दी, मुन्ना द्वारा दूसरे मंजिल से ही आवाज लगाई तो दोनो ने उनकी प्रोपेर्टी खरीदने की बात कही। इस पर वह नीचे आये और दोनो लड़को से कहा कि संपत्ति विवादित है इस पर बदमाश घर मे बैठकर बात करने लगे और तभी तीसरा लड़का भी आ गया। तीनो ने असलहे के दम पर बंधक बना लिया और लूटपाट किया। पुलिस अधिकारियों की माने तो सीसीटीवी फुटेज के से बदमाशो की तलाश की जा रही जी। मौके पर डॉग स्क्वाड भी आया पर थोड़ी देर ही इधर घूमकर रह गया। जल्द बदमाश गिरफ्त में होंगे। पीड़ित ने एक युवक को पहचानते हुए उस पर आशंका जताते हुए मुकदमा दर्ज कराया है। वहीं पीड़ित चावला ने आशंका के सवाल पर मीडिया से कहा है कि उन्हें आशंका नही बल्कि  पहचान ही लिया है लेकिन सार्वजनिक नही करना चाहते क्योंकि वह सतर्क न हो जाये। 

पीढ़ियों पुराने सामान को लूटा

विवेक उर्फ मुन्ना ने बताया कि वह वर्षों से या यूं कहें कि अपने शुरुआती दिनों से ही अपने नाना डॉक्टर के आशीष अग्रवाल के घर ही रहते है। उनके नाना पर नामा के समय व उससे भी पुराने सबसे एंटीक सामान और जूलरी थे। इसके अलावा अभी हाल में एसबीआई से उन्होंने ढाई लाख कैश निकाला था जिसकी रशीद उनके पास मौजूद है। बाकी भी कैश पहले से घर मे था। बदमाशों ने कुल सात लाख कैश पार कर दिया। एंटीक सामान और जूलरी के बारे में पीड़ित विवेक ने बताया कि उसकी कीमत का कोई अनुमान नही व्व 50 या 60 या 70 कुछ भी हो सकती है। हालाँकि यह यकीन से कह सकते हैं कि 50 लाख से कम तो नही कत्तई नही होगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ